वर्तमान स्थिति को देखते हुए UGC फिर कर रहा परीक्षा के नए नियमों में बदलाव

31

लॉक डाउन और कोरोना कि९ वजह से विधार्थियों की परीक्षाओं पर इसका बहुत असर पड़ा है. जिसकी वजह से अभी भी बच्चो के एग्जाम बीच में ही लटके हुए है. ऐसे में UCG ने बच्चों के एग्जाम को लेकर नए दिशानिर्देश जारी किये थे. लेकिन वर्तमान हालातों को देखते हुए बच्चो के एग्जाम ले पाना अभी मुश्किल है.

इसी वजह से बच्चो के एग्जाम किस तरह लिए जाए इसके ऊपर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग काम कर रहा है. इस संबंध में नई जानकारी भी दी गई है. बता दें कई बड़े संस्थान में स्टूडेंट्स की संख्या ज्यादा है और ऐसे माहौल में संस्थाने परीक्षा कराने में खुद को असमर्थ बता रहे हैं. वही ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन के चेयरमैन अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा है कि विभिन्न राज्यों में कोविड-19 के वर्तमान हालात को देखते हुए यूजीसी कुछ समय पहले जारी दिशानिर्देशों में बदलाव कर रहा है.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यूजीसी के इस निर्णय में एआईसीटीई, बार काउंसिल ऑफ इंडिया, आर्किटेक्चर काउंसिल, फार्मेसी काउंसिल समेत देश की अन्य शीर्ष शैक्षणिक संस्थाएं भी शामिल होंगी. सभी मिलकर देश के हालात की समीक्षा करेंगे और परीक्षाओं के लिए नए दिशानिर्देश तैयार करेंगे.

वही कुछ संस्थाने जैसे मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया, काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर, बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने अपने संबंधित कॉलेजों से ऑनलाइन एग्जाम्स व प्रोजेक्ट्स कराने के लिए कहा है. जबकि  कुछ शैक्षणिक परिषदों ने साफ कहा है कि बिना परीक्षा स्टूडेंट्स को ग्रेजुएट कर देने से उनके संबंधित कानूनों का उल्लंघन करना होगा. जाहिर है देश में जबसे कोरोना ने अपनी दस्तक दी है. तभी से हालात काफी नाजुक हो गए है. जिसका असर देश के हर व्यक्ति पर पड़ रहा है.