झूठ फैलाने वाले कांग्रेसी नेता उदित राज की जमकर लगी क्लास

936

नॉर्थ वेस्ट दिल्ली से सांसद रह चुके उदित राज ने फिर अपने अधूरे ज्ञान का परिचय दिया है. इस बार के लोकसभा चुनाव में उन्हें बीजेपी से टिकट नही मिला तो फिर वो कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए. कांग्रेस नेता उदित राज ने ट्वीट करके कहा कि,अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड और सिक्किम में जाने के लिए भारतीयों को वीज़ा बनवाना पड़ता है.

उदित राज ने ट्वीट में लिखा कि, नव भारत अख़बार छत्तीसगढ़ के हवाले से छपी ख़बर के अनुसार नागालैंड , अरुणाचल और सिक्किम में भारतीयों को प्रवेश करने के लिए वीज़ा चाहिए लेकिन वो भाजपा का मुद्दा नहीं है. वहाँ हिंदू बनाम मुस्लिम का मुद्दा नहीं बनता यही वजह है. इस ट्वीट के बाद लोगों ने उदित राज की जमकर क्लास लगाई.

एक यूजर ने कमेंट करके लिखा कि, भाजपा से जाने के बाद ओर कांग्रेस मे आने के बाद जाने क्यूं लोग देश के खिलाफ एजेंडा चलाने लगते है.

वही एक यूजर ने ट्वीट किया कि, पिछले महीने ही अरुणांचल में 7 दिन टूर कर के आया हूँ, मुझे तो किसी वीज़ा की जरूरत नही पड़ी. या तो अफवाह फैला रहे हो या पकिस्तान कि नागरिकता ले ली तुमने. जिस की वजह से वीज़ा की जरूरत है तुम को.

एक दुसरे यूजर ने कमेंट किया कि, सर। मैं बिना पासपोर्ट-वीज़ा दो महीने पहले सपरिवार सिक्किम होकर आया. रास्ते में नेपाल था, वहाँ भी सिर्फ आधार कार्ड दिखाकर चला गया था, अब पुलिस पकड़ेगी तो नहीं?

उदित राज ने जिस ‘नवभारत’ समाचार पत्र का जिक्र किया है, उस अखबार ने ‘इनर लाइन परमिट’ को आंतरिक वीजा बताया था. दरअसल, भारत का कोई भी नागरिक भारत के किसी भी हिस्से में बिना वीज़ा के घूमने जा सकता है. अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में घूमने जाने के लिए इनर लाइन परमिट की जरुरत पड़ती है जो आसानी से मिल भी जाती है. सिक्किम में जाने के लिए इसकी भी जरुरत नही पड़ती. उदित राज का किसी भी राज्य में घूमने जाने के लिए वीजा कि जरुरत होने का दावा बिल्कुल गलत है.