उद्धव ठाकरे ने किया बड़ा ऐलान ट्रेनें तो खुलेगी नहीं लेकिन हम राज्य में फंसे मजदूरों को लेकर उठा रहे हैं ये कदम!

कोरोना का कहर इस समय पूरी दुनिया में बढ़ता जा रहा है. सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी मरीज घटने का नाम नहीं ले रहे हैं और हर दिन हजारों की संख्या में मरीज बढ़ते जा रहे हैं. पूरे देश में 3 मई तक के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ा दिया गया था ताकि इस महामारी से बचा जा सके. वहीँ ट्रेन बस और हवाई सेवा को बंद कर दिया था ताकि लोगों की आवाजाही न हो सके.

जानकारी के लिए बता दें सरकार के इन क़दमों के बाद भी भारत में मरीजों की संख्या 26 हजार के पार हो गयी है. अभी तक इस बीमारी की कोई दवा और वैक्सीन बनने को लेकर राहतभरी खबर नहीं आ रही है. वहीँ एक राज्य के लोग दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं जोकि राज्य सरकारों के लिए बड़ी चुनौती हैं. अगर मरीजों की संख्या इसी स्तर से बढ़ती रही तो हो सकता है सरकार लॉकडाउन को और आगे बढ़ा दे लेकिन इसी बीच महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने बड़ा ऐलान किया है.

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में फंसे मजदूरों को वापस भेजने के लिए सरकार हर संभव कोशिश कर रही है. उन्होंने ट्रेनों के संचालन को लेकर बड़ी बात कहते हुए कहा एक बात तो तय है कि ट्रेनें नही खुलेंगी लेकिन मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. इस कदम को लेकर अन्य राज्यों से बात की जा रही है.

गौरतलब है कि उनके इस इशारे से ये तो साफ़ है कि 3 मई के बाद भी ट्रेनें तो नही चलने वाली. उन्होंने कहा कि ट्रेन खुली तो भीड़ होगी जिससे संक्रमण और बढ़ने अंदेशा रहेगा. जिसके चलते लॉकडाउन को और आगे बढ़ाना पड़ेगा. सीएम ने कहा है कि कोटा में फंसे राज्य के छात्रों को भी सरकार वापस लाने की बात कर रही है. साथ ही उन्होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि वो कोरोना से जंग लड़ने में सहयोग करें और घर में नमाज अदा करें.