महाराष्ट्र सरकार बड़ा फैसला, औरंगाबाद एयरपोर्ट का नाम बदला

उत्तरप्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ ने एक बाद एक बड़े फ़ैसले लिए. उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुधारने और इतिहास को देखते हुए कई ऐसे फ़ैसले लिए जिनकी आज हर जगह चर्चा होती है. सीएम योगी ने सूबे में कई जगहों के नाम बदलकर बड़ा फैसला लिया था. उनके इस फ़ैसले का विपक्षी दलों ने विरोध किया लेकिन वह लगातार फ़ैसले लेते रहे. उन्होंने इलाहाबाद का नाम बदलकर वापस प्रयागराज कर दिया था.

जानकारी के लिए बता दें सीएम योगी द्वारा लिए गये फैसलों को ध्यान में रखते हुए अब और भी सरकारें इसी तरह के फ़ैसले ले रही है. इसी बीच एक बड़ी खबर महाराष्ट्र से आ रही है. गुरूवार को औरंगाबाद हवाईअड्डे का नाम बदलकर छत्रपति संभाजी महाराज कर दिया है. उद्धव सरकार लिए गये फ़ैसले को लोग सराह रहे हैं. इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में ये फैसला लिया गया है.

दरअसल मध्यप्रदेश में अभी हाल ही में एक नेता ने ये मुद्दा उठाया भी था कि हम छत्रपति संभाजी के वंशज हैं न कि औरंगजेब के इसलिए औरंगाबाद का नाम बदलकर छत्रपति संभाजी रखा जाये. उनकी इस मांग के बाद उद्धव ठाकरे ने ज्यादा समय न लेते हुए ये फैसला ले लिया है. महाराष्ट्र में बनी गठबंधन की सरकार के बाद तीनों दलों के बीच की आंतरिक सुलह कई बार सामने आ चुकी है लेकिन सीएम उद्धव ठाकरे ने फ़ैसले लेने में पीछे नहीं हट रहे हैं.

गौरतलब है कि अब औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजी नगर होने के बाद एनओसी लेने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. संभाजी नगर नाम होने के बाद जिला प्रशासन ने रेलवे और भारतीय डाक सहित विभिन्न विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र हासिल करने का काम शुरू कर दिया है. जल्द ही सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद औरंगाबाद को लोग संभाजीनगर से जानने लग जायेंगे.