बच गई उद्धव की कुर्सी, चुनाव आयोग ने उद्धव को दे दिया जीवनदान, इस तारीख को होगा MLC का चुनाव

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर मंडराता खतरा टल गया है. चुनाव आयोग ने उद्धव ठाकरे को जीवनदान दे दिया. चुनाव आयोग ने विधान परिषद चुनाव की अधिसूचना जारी करते हुए तारीख का ऐलान कर दिया. चुनाव आयोग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक़ विधान परिषद की 9 सीटों पर अब 21 मई को चुनाव होगा.

गौरतलब है कि उद्धव को मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए 27 मई 2020 से पहले परिषद में चुने जाने की आवश्यकता थी. इसके लिए उन्होंने राज्यपाल से गुजारिश की कि वो उन्हें नामित कर दें लेकिन राज्यपाल ने इससे इनकार करते हुए चुनाव आयोग को पत्र लिख कर विधान परिषद चुनाव कराने की मांग कर दी. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखते हुए कहा था कि चूंकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं और उन्हें 27 मई 2020 से पहले परिषद में चुने जाने की आवश्यकता है. ऐसे में चुनाव आयोग अपनी ओर से जल्द से जल्द इस पर फैसला करे. राज्यपाल ने अपने पत्र में ये भी कहा था कि केंद्र सरकार ने देश में लॉकडाउन के दौरान कई छूट और उपायों की घोषणा की है. ऐसे में महाराष्ट्र विधान परिषद की रिक्त सीटों के लिए भी चुनाव कराने संबंधी कुछ दिशा-निर्देश जारी किये जा सकते हैं.

महाराष्ट्र में विधान परिषद की 9 सीटें 24 अप्रैल से खाली है. अब चुनाव आयोग ने इन सीटों पर चुनाव का ऐलान कर उद्धव ठाकरे को राहत दे दी. इन सबके बीच उद्धव ठाकरे शुक्रवार सुबह राज्यपाल कोश्यारी से मिलने पहुंच गए. उद्धव ने 28 नवंबर को सीएम की कुर्सी संभाली थी. उन्हें संविधान के तहत 6 महीने के अंदर किसी सदन का सदस्य बनना जरूरी है. अब चुनाव आयोग के निर्देश के बाद उद्धव की राह की अड़चन दूर होती दिख रही है.