लेह-लद्दाख को चीन का हिस्सा बताने पर ट्विटर ने मांगी माफ़ी, गलती सुधारने के लिए माँगा वक़्त

12

माइक्रोब्लॉगिंग साईट ट्विटर को भारत के नक़्शे के साथ छेड़छाड़ करना महंगा पड़ गया और उसे अपनी गलती के लिए माफ़ी मंगनी पड़ी है. साथ ही ट्विटर ने ये वादा किया है कि इस महीने के आखिर तक वह इस गलती को सुधार लेगा.

दरअसल ट्विटर ने लेह को चीन के हिस्से के रूपमें दिखाया था जिसपर भारत सरकार ने ट्विटर को सख्त चेतावनी दी थी. सरकार ने कहा था कि देश की संप्रभुता और अखंडता के प्रति किसी भी तरह का समझौता या गलती मंजूर नहीं है. बीते 22 अक्टूबर को भारत सरकार ने ट्विटर को उसकी लोकेशन सेटिंग को लेकर चेतावनी जारी की थी. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव ने ट्विटर के सीईओ जैक डोरसे को ट्विटर की इस हरकत पर आपत्ति जताते हुए एक पत्र लिखा था. साथ ही पिछले महीने डेटा प्रोटेक्शन बिल पर बनी संयुक्त संसदीय समिति ने इसे देशद्रोह के बराबर माना था और ट्विटर से हलफनामे के रूप में सफाई देने को कहा था.

संसदीय समिति के सख्त रुख के बाद ट्विटर ने लिखित में माफी मांग ली है और वादा किया है कि जल्द ही अपनी गलती को सुधार लेगा. समिति की अध्यक्ष मीनाक्षी लेखी ने बुधवार को यह जानकारी दी. ट्विटर ने समिति से अपनी गलती को ठीक करने के लिए 30 नवंबर तक का वक़्त माँगा है.