सोशल मीडिया पर देवेन्द्र फडनवीस की पत्नी अमृता और प्रियंका चतुर्वेदी में मचा घमासान

2137

सियासत में भाजपा और शिवसेना के रिश्ते बदलने का असर अब दोनों पार्टियों की महिला नेत्रियों पर भी दिखने लगा है. सोशल मीडिया पर एक नई जं’ग छिड़ गई है और ये आमने सामने हैं पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस और शिवसेना की नेत्री प्रियंका चतुर्वेदी. महाराष्ट्र की राजनीति की ये दोनों महिलायें पेड़ों की कटाई को लेकर एक दुसरे पर धारदार ट्वीट दाग रही हैं.

अमृता फडनवीस ने ट्वीट कर शिवसेना पर आरोप लगाए कि वो तभी पेड़ कटवाती है जब उसे कमीशन मिलता है इसपर जवाबी हमला किया प्रियंका चतुर्वेदी ने. उन्होंने अमृता को झूठ बोलने की बिमारी से ग्रस्त बता दिया.

हुआ ये कि अमृता फडनवीस ने एक न्यूज रिपोर्ट शेयर करते हुए ट्वीट किया, “पाखंड एक बीमारी है, शिवसेना जल्द ठीक होइए, आप अपनी सुविधानुसार पेड़ कटवाते हैं या फिर पेड़ कटवाने की इजाजत तभी देते हैं जब आपको कमीशन मिलता है, ये क्षमा करने योग्य पाप नहीं है.” उन्होंने जिस न्यूज रिपोर्ट को शेयर किया था, उसमे लिखा था कि औरंगाबाद में बाल ठाकरे के स्मारक के लिए 5000 पेड़ काटे जाने की बात है. जबकि शिवसेना ने आरे में पेड़ काटने का विरोध किया था.

अमृता के हमले से प्रियंका चतुर्वेदी तिलमिला गई. उन्होंने जवाबी हमला बोलते हुए ट्वीट किया, “मैम आपको ये जानकार निराशा होगी, लेकिन सच्चाई ये है कि मेमोरियल के लिए एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा, मेयर ने भी इसकी पुष्टि कर दी है. हां मैं बता दूं कि अनिवार्य रूप से झूठ बोलना बड़ी बीमारी है, जल्द ठीक होइए, वृक्ष काटने के लिए कमीशन महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं द्वारा प्रैक्टिस की जाने वाली नई पॉलिसी है.” प्रियंका ने साथ ही औरंगाबाद के मेयर का एक वीडियो भीट्वीट किया जिसमे वो कह रहे हैं कि एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा.