मायावती के साथ अक्सर दिखने वाला ये लड़का आखिर है कौन? देखिये पूरी सच्चाई

470

15 जनवरी मायावती का 61वाँ जन्मदिन था. नये नए सियासी साथी मिले अखिलेश बाबू ने बधाई दी तो वहीँ मायावती के कार्यकर्ताओं ने केक कटवाया. केक कटवाया ही नही छीछालेदर भी करवाया.
केक कटते ही इस तरह से लूट मचते हुए तो हमने पहली बार देखा. शायद यहाँ सपा और बसपा दोनों के कार्यकर्ता इकट्ठा हो गये थे और दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं को सबसे ज्यादा केक इकट्ठा करने की चुनौती दी गयी थी.
खैर अखिलेश भैया तो मायावती को जन्मदिन की शुभकामनाएं देने के लिए मायावती के नए घर पर पहुंचे थे, इस नये निवास में भी मायावती ने अपनी खुद की मूर्ति लगवाई है. जिसे देखकर शायद अखिलेश भैया को वो दिन जरुर याद आ गया होगा जब उनके कार्यकर्ता मायवाती की मूर्तियों के गले काट रहे थे. मायावती के नए घर में घुसते ही पहले आपको मायावती की मूर्तियाँ ही आपका स्वागत करेंगी.


इसके सारे वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं. सोशल मीडिया से एक बात और ध्यान में आई कि इस समय सोशल मीडिया पर मायावती के साथ एक लड़के की तस्वीर खूब वायरल हो रही है. लोग जानना चाहते हैं कि आखिर मायावती के साथ हर वक्त मौजूद रहने वाला ये लड़का है कौन?
जब इस बात की पड़ताल की गयी तो पता चला कि ये लड़का कोई और नही बल्कि मायावती का भतीजा आकाश है. जो मायावती के साथ राजनीतिक पाठ पढ़ रहा है. वैसे मायवाती वंशवाद के खिलाफ बड़ी बड़ी बातें करती है लेकिन जब उन्होंने अपने भाई आनदं को पार्टी उपाध्यक्ष बनाया था तब खूब बवाल हुआ था. जिसके बाद उनसे यह पद छीन लिया गया. और अब जिस प्रकार आकाश मायावती के साथ रह रहा है तो लोग कयाश लगा रहे हैं कि मायावती भी वंशवाद को बढ़ाते हुए आकाश को उत्तराधिकारी बनायेंगी?

देखिये वीडियो

खैर जब देश में अधिकतर पार्टियों के नेता अपने बेटे और परिवार के लोगों को उत्तराधिकारी बनाते आ रहे हैं, और जिस पार्टी से मायवती ने गठबंधन किया है मतलब समाजवादी पार्टी, वंशवाद का सबसे बड़ा उदाहरण तो वहीँ हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या मायवाती जिस तरह इस समय अपने राजनीतिक फैसले ले रही हैं, आने वाले समय में उन्हें वंशवाद से भी कोई शिकायत नही रह जायेगी.

वैसे अगर सोशल मीडिया पर लोगों के राय की बात करें तो सपा और बसपा का गठबंधन लोगों को रास नही आ रहा है. मायावती ने गेस्ट हाउस काण्ड को भूलकर समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर चुकी हैं. इसके साथ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता कुछ समय पहले ही मायावती की मूर्तियों को तोड़ रहे थे और अखिलेश भैया ने अब साफ साफ कह दिया है कि अगर कोई भी मायावती की अपमान करेगा तो वो अखिलेश का अपमान करेगा.

लाल घेरे में मायावती का भतीजा

वैसे उत्तर प्रदेश में इस समय सबसे अधिक बीजेपी के सांसद है और दुसरे नंबर समाजवादी पार्टी है.वहीँ तीसरे नंबर कांग्रेस है. मायावती खाता खोलने में सफल नही हो पायी थी लेकिन यहाँ सबसे हैरान करने वाली बात तो यह है कि गठबंधन करने के लिए अखिलेश यादव ज्यादा उतावले दिखाई दे रहे थे.