भारत की धरती से ट्रंप ने आतं’कवाद के आ’का को सुनाई ख’री- खो’टी

2641

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत पहुंच चुके हैं. गुजरात के अहमदाबाद पहुंचे ट्रम्प का भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रो’टोकॉ’ल तो’ड़कर बेहद ही गर्म’जो’शी से गले लगाकर स्वागत किया. वहीं डोनाल्ड ट्रम्प भी भारत आने को लेकर इतने उत्सुक थे कि उन्होंने अपने अधि’का’रिक ट्वीटर हैंडल से हिंदी में ट्वीट कर के कहा कि ‘हम भारत आ रहे हैं जल्द ही आप लोगों से मिलेंगे.’ ट्रम्प की भारत यात्रा को लेकर सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गयी है.अहमदाबाद पहुँचने के बाद मोदी ने ट्रंप और उनके पूरे परिवार का बड़ी गर’मजो’शी के साथ स्वागत किया और उसके बाद मोदी ट्रंप को रोड के रास्ते मोटेरा स्टेडियम पहुंचे. जहाँ पर दोनों ने एक बार फिर से एक दुसरे को जादू की झप्पी दी.

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडिमय में मोदी ने पहले ट्रंप की तारीफ की. उसके बाद ट्रंप ने मोटेरा स्टेडियम से ही ‘आतं’कवाद के खि’लाफ भारत का साथ देने का वादा करते हुए पाकिस्तान को अपनी जमीन से आ’तंक’वाद खत्म करने को कहा ट्रंप ने पाकिस्तान का नाम लेकर कहा कि उसकी जमीन से आ’तंक’वाद को ख’त्म करना होगा.’ पाकिस्तान का जिक्र आते ही एक लाख से अधिक लोग अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में मौजूद लोगों ने तालियों की गडगडाहट से पूरा स्टेडियम गूंज उठा. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत की तरह उनका भी देश आ’तंक’वाद का शिकार रहा है और हम क’ट्टर इस्ला’मिक आतं’कवा’द से निपटने के लिए भी साथ हैं.

साबरमती आश्रम पर चरखा कातने के बाद मोटेरा स्टेडिमय में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति दोंनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘भारत और अमेरिका दोनों ही अपने नागरिकों को इस्ला’मिक आ’तंक’वाद से बचा रहे हैं. ट्रंप ने आ’तंक’वादी संग’ठन इस्ला’मिक स्टेट के खा’त्मे का जिक्र करते हुए कहा, ‘मेरे कार्यकाल में अमेरिका सैन्य शक्ति को आई’एस’आई’एस के खिलाफ खुली छूट दी. आज आई’एस का खली’फा मा’रा जा चुका है. रा’क्षस बग’दादी मर चुका है.

ट्रंप ने पाकिस्तान को लेकर कहा, ‘हमारे नागरिकों की सुरक्षा पर खतरा बनने वालों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. हर देश को सीमा सुरक्षा का अधिकार है. अमेरिका और भारत आ’तंक’वाद और आतं’की वि’चार’धारा से लड़ रहा है. ट्रंप प्रशासन पाकिस्तान के साथ बात कर रहा है. पाकिस्तानी सीमा में आतं’कि’यों के खि’लाफ कार्र’वाई करनी होगी. हमारे पाकिस्तान से अच्छे संबंध हैं. हमें लग रहा है कि पाकिस्तान कुछ कदम उठा रहा है. ये पूरे दक्षिण एशिया के लिए जरूरी है. भारत को इसमें अहम योगदान निभाना होगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा, ‘हम सबसे अच्छे एयरोप्लेन, रॉकेट, शिप्स , भयानक हथियार बनाते हैं, एरियल वीइकल, 3 अरब डॉलर फाइनल स्टेज में है. हम ये हथि’यार भारतीय सेना को देंगे. मैं मानता हूं कि अमेरिका को भारत का सबसे बड़ा डिफेंस पार्टनर होना चाहिए. इंडो पैसिफिक रीजन को सुरक्षित रखना है. कहीं न कही पाकिस्तान के लिए हर तरफ से एक बुरी खबर आती दिख रही है. पाकिस्तान अमेरिका जाकर कश्मीर के मुद्दे पर ट्रंप से गुहार लगते है. लेकिन वहां पर भी बात नहीं बनती है. जब ट्रंप इंडिया आते है तो उल्टा ही इमरान को नसीयत देना शुरू कर देते है. मोदी की कूटनीति की वजह से इमरान को हर जगह मुह की खानी पड़ती है.