कोरोना वायरस का क’हर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. चीन के बाद भारत तीसरा ऐसा देश है जहाँ कोरोना वा’यरस इतनी ते’ज़ी से फैल रहा है. जिसकी वजह से अभी तक कई लोगो की मौ’त हो गयी है. कोरोना वायरस का क’हर जारी है. जिसको देखते हुए पूरी दुनिया अब इससे ल’ड़ने के लिए तैयार है. कोरोना वायरस की वजह से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इ’मरजेंसी लागू कर दी है वही भारत में भी पीएम मोदी ने 21 दिनों के लिए पूरे देश में लॉक डाउन का ऐलान कर दिया है जो 14 अप्रैल तक चलेगा. जिसके तहत कोई भी बाहर नहीं निकल सकता है और लोगो से अ’पील की गयी है कि सभी इसका पा’लन करे

इसी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने WHO पर आरोप लगते हुए कहा कि कोरोना मामले पर WHO ने चीन का पक्ष लिया है और उसे बचाने की कोशिश की है. दरअसल ट्रम्प ने यह बयान वाइट हाउस में प्रेस कांफ्रेस के दौरान कही थी. ट्रम्प ने यह भी कहा कि अगर इसकी पहले ही जानकारी दे दी जाती तो इतने लोगों की जान नहीं जाती.

गौरतलब है कोरोना वायरस की वजह से कई हज़ार लोगो की जान जा चुकी है और कई लोग अभी भी इससे संक्रमित है. जिनको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. लेकिन कोरोना वायरस के खतरे की जानकारी पहले ही सभी के साथ साझा की जा चुकी होती तो इस स्थिति को बहुत पहले ही काबू कर लिया गया होता और इतने बुरे हालत पैदा ही नहीं हो पाते. चीन की लापरवाही का नतीजा आज पूरा विश्व झेल रहा है. जिसकी वजह से आज हालत ये हो गए है कि लोग अपने घरो से भी बाहर नहीं निकल सकते. वही भारत में हालातों को देखते हुए सरकार ने कड़े कदम उठाते हुए 21 दिन के लिए पुरे भारत में लॉक डाउन कर दिया है.