कोरोना के चलते CM योगी नहीं पहुंच पाए पिता के अंतिम संस्कार में लेकिन इस राज्य के सीएम ने पहुंचकर दिया कंधा

89 साल की उम्र में सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद बिष्ट का दिल्ली में एम्स अस्पताल में निधन हो गया है. उनकी तबियत पिछले कई दिनों से ठीक नही थी जिसके चलते वह दिल्ली के एम्स में भर्ती थे. सोमवार 20 अप्रैल को 10:45 मिनट के आसपास उन्होंने अंतिम सांस लेकर इस दुनिया को अलविदा कह दिया. सीएम योगी के पिता को किडनी और लीवर में समस्या थी. जिसके चलते वह 13 मार्च से एम्स में भर्ती थे.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना जैसी महामारी के चलते सीएम योगी हर रोज की तरह मीटिंग कर रहे थे तभी उसी दौरान उन्हें अपने पिता जी के निधन की खबर मिली. जिसके बाद उन्होंने एक पत्र लिख अपने पिता को श्रद्धांजलि अर्पित की और कोरोना जैसी महामारी से निपटने और राज्य के 23 करोड़ लोगों को ध्यान में रखते हुए उनके अंतिम संस्कार में न जाने की बात कही थी. उन्होंने अपना राजधर्म निभाते हुए ये बड़ा फैसला लिया.

उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का आज मंगलवार सुबह उत्तराखंड के पास पैतृक गाँव में सीएम योगी के बड़े भाई मनेंद्र बिष्ट ने मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार किया. सीएम योगी ने अपना राजधर्म और कोरोना जैसी समस्या से चलते अंतिम संस्कार में ना जाने का फैसला लिया था लेकिन उनके आनंद सिंह बिष्ट के अंतिम संस्कार में पहुंचकर इस राज्य के सीएम ने अपना धर्म निभाया. इतना ही नही उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वहां पहुंचकर सीएम योगी के पिता को कंधा भी दिया.

गौरतलब है कि आनंद सिंह बिष्ट की अंतिम यात्रा में उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ, राम देव, चिदानंद, मदन कौशिक समेत कई अन्य लोग शामिल हुए. उत्तराखंड के सीएम ने वहां पहुंचकर आनंद सिंह बिष्ट जी को श्रद्धांजलि अर्पित की और लिखा कि आप जैसे समाजसेवी की कमी हमेशा प्रदेश को खलेगी. आपके द्वारा किये गये सामाजिक कार्यों को कभी नहीं जाएगा.