टोक्यो पैरालंपिक्स: तीरंदाज हरविंदर सिंह ने भारत को कांस्य पदक दिलाकर रचा इतिहास

151

टोक्यो पैरालंपिक में एक बार फिर से भारत की शानदार जीत हुई है. तीरंदाजी में भारत ने इतिहास रच दिया है. भारत ने पहली बार पैरालंपिक के इतिहास में तीरंदाजी में पदक जीता है. तीरंदाज हरविंदर सिंह ने कोरिया के सू मिन किम को हराकर कांस्य पदक जीता है. उन्होंने यह मुकाबला 6-5 से जीता.

जानकारी के मुताबिक, हरविंदर सिंह और सू मिन किम के बीच मुकाबला काफी रोमाचंक रहा. हरविंदर ने 10 और सू मिन ने 8 का स्कोर किया. पांच सेट के खेल के बाद दोनों खिलाड़ी 5-5 की बराबरी पर रहें लेकिन शूटआउट में भारत के तीरंदाज हरविंदर ने बाजी मारी और सेट जीतकर कांस्य पदक अपने नाम किया.

वहीं, तीरंदाज़ी में हुई इस जीत पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर हरविंदर सिंह को ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर बधाई दी है. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘हरविंदर सिंह का शानदार प्रदर्शन। उन्होंने महान कौशल और दृढ़ संकल्प का प्रदर्शन किया, जिसके परिणामस्वरूप उनकी जीत हुई, ऐतिहासिक कांस्य पदक जीतने पर उन्हें बधाई, उन्हें आने वाले समय के लिए शुभकामनाएं.’

आपको बता दें कि, मौजूदा पैरालंपिक में भारत ने अब तक कुल 13 पदक जीते हैं. भारत के खाते में इस समय 2 स्वर्ण, 6 रजत और 5 कांस्य पदक हैं. मालूम हो कि इससे पहले पैरा शूटर अवनी लखेरा ने महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 स्पर्धा में कांस्य पदक जीता, जबकि हाई जंप में प्रवीण कुमार ने देश को सिल्वर मेडल दिलाया.