भारत में बैन होने के बाद टिकटॉक का आया बयान, सफाई देते हुए कही ये बात

3155

भारत सरकार के 59 चीनी ऐप पर प्रतिबन्ध लगा दिया. देश की सुरक्षा, अखंडता और नागरिकों की निजता की हिफाजत के लिए ये कदम उठाया गया. सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार चाइनीज ऐप्स की लिस्ट देते हुए कहा था कि तनाव के माहौल में ये चाइनीज एप्स खतरनाक साबित हो सकते हैं. इनका इस्तेमाल चीन भारत के नागरिकों की गोपनीय जानकारी हैक करने में कर सकता है. सुरक्षा एजेंसियों की चेतावनी के बाद सरकार ने टिकटॉक समेत 59 एप्स पर प्रतिबन्ध लगा दिया. बैन होने के बाद अब टिकटॉक ने बयान जारी करते हुए सफाई दी है.

टिकटॉक ने सफाई देते हुए कहा कि उसने किसी भी यूजर की जानकारी दूसरे देश, यहां तक कि चीन को भी नहीं दी गई है. टिकटॉक इंडिया की तरफ से बयान जारी करते हुए टिकटॉक के इंडिया हेड निखिल गांधी ने कहा, ”भारत सरकार ने 59 ऐप ब्लॉक करने का फैसला लिया है, जिसमें टिकटॉक भी शामिल है, हम इस आदेश का पालन करने की प्रक्रिया में हैं. हमें सरकार के संबंधित विभागों की तरफ से बुलाया गया था और सफाई देने का मौका दिया गया था. हम यूजर की प्राइवेसी और इंटीग्रेटी को सबसे ऊपर रखते हैं. उसकी तरफ से किसी भी भारतीय यूजर की जानकारी किसी भी दूसरे देश के साथ साझा नहीं की गई है, यहां तक कि चीन के साथ भी नहीं.’

भारत सरकार ने आईटी एक्ट की धारा 69-A के तहत 59 चाइनीज ऐप्स को बैन करने का फैसला किया है. सरकार ने कहा है कि ये ऐप भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा थे, इसलिए मोबाइल और नॉन-मोबाइल इंटरनेट डिवाइस में इन्हें बैन किया गया है.