सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले से ठीक पहले का ये वीडियो आपको रुला देगा

चौदह फरवरी,ये वो तारीख थी जब देश के 40 बहादुर जवान एक आतंकी घटना का शिकार होकर दुनिया को अलविदा कह गए थे।जिसके बाद दुनिया भर में इस घटना का बड़े स्तर पर विरोध भी हुआ था।
न्यूजीलैंड,अमेरिका,रूस जैसे देशो तो बिना शर्त भारत के साथ खड़े होने की बात तक कह दी थी।
अभी हाल ही में पुलवामा से जुड़ा एक वीडियो सामने आया है। 1मिनट 6sec के इस वीडियो को शहीद जवान सुखजिंदर ने उसी बस में बैठके बनाया था जिसपर आतंकियों ने हमला किया था। 
बस में बैठे सुखजिंदर ने वीडियो को बनाकर अपनी पत्नी को भेजा था पर बदकिस्मती देखिए कि वीडियो भेजने के थोड़ी ही देर बाद सुखजिंदर अपने साथियों के साथ आतंकी हमले का शिकार हो गए थे।

आतंकी हमले से पहले का ये वीडियो शुक्रवार को सामने आया,वीडियो में बाहर का नजारा दिख रहा है,सड़क के दोनो किनारे बर्फ के बीचों बीच खड़े पेड़ ही पेड़ है। बाहर का नज़ारा काफी अच्छा दिख रहा है। एक बार कैमरे का मुँह सुखजिंदर अपनी तरफ भी करते है। साथ चल रहे साथियों को भी दिखाते है। अपने साथियों से कुछ बाते करने की भी आवाज वीडियो में आती है।

शायद इस वीडियो को बनाकर सुखजिंदर शायद अपनी पत्नी को ये बताना चाह रहे थे कि वो फिलहाल ड्यूटी पर है। 
ये वीडियो सुखजिंदर ने बनाया और अपनी पत्नी को व्हाट्सप्प पर भेज दिया। उनकी पत्नी ये मैसेज देख पॉय उससे पहले ही उन्हें सेना की तरफ आतंकी हमले में उनके पति के शहीद होने की सूचना दी गई जिसे सुनकर सुखजिंदर की पत्नी अपनी सुध बुध खो बैठी और बेहोश हो गई। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।  शुक्रवार को हालत थोड़ी ठीक होने ले बाद जब उनकी पत्नी ने अपना मोबाइल ऑन करके उसे चेक किया तो उसमें सुखजिंदर का भेजा हुआ ये वीडियो मैसेज दिखाई दिया। इस वीडियो को देखने के बाद घर वालो का हाल बुरा है।  वीडियो देख देखकर पत्नी चीख चीख कर भगवान से अपने पति को वापिस लौटाने की गुहार लगा रही।
शायद वो समझ ही नही पा रही कि दुनिया छोड़कर गए लोग वापिस नही आया करते।

पूरी विडियो देखे….

हमले का शिकार हुई बस में बैठे कई लोग तो ऐसे थे जिनकी शादी के कार्ड तक बंट चुके थे,कई ऐसे थे जिन्हें महीनों बाद घर जाना था,कई ऐसे थे जो अपने माँ बाप का इकलौता सहारा थे और जिद करके सेना में गए थे,सबको अभी बहुत कुछ करना था।
लेकिन एक आतंकी हमला सबके अरमानों को चूर चूर करते हुए 40 जिंदगियों को खत्म कर गया,तोड़ गया उन सपनों को जो बहादुर बेटे ने अपने घर परिवार के लिए देखे थे.

Related Articles

15 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here