BREAKING NEWS- महाराष्ट्र में गठबंधन को लगा जोरदार झटका, इस बड़े मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा

1090

महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम अब बेहद ही तेजी से बदलने लगे हैं, तीनों ही दलों में अब खुलकर बड़ी टूट सामने आने लगी है शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के बीच राजनीतिक माहौल बेहद ही तल्ख़ नजर आ रहा है. महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार अब टूटने की कगार पर है क्यूंकि उद्धव ठाकरे सरकार के कैबिनेट विस्तार के महज 5 दिन के भीतर ही शिवसेना से मंत्री बने अब्दुल सत्तार ने मंत्री पद से इस्तीफा सौंप दिया है.

गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे की सरकार में राज्य मंत्री के तौर कुछ दिनों पहले उनको शामिल था कैबिनेट में हुए विस्तार के बाद मंत्री चुने गए अब्दुल सत्तार की मांग थी कि उन्हें कैबिनेट मिनिस्टर का स्थान दिया जाए. लेकिन गौर करने वाली बात ये भी है कि अभी सीएम उद्धव ठाकरे ने उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया है. मगर उनका बागी अंदाज अब स्वाभाविक तौर पर गठबंधन के लिए चिंता का विषय है.

पार्टी के अंदरखाने से अब ये खबरें निकलकर सामने आ रहीं हैं कि सत्तार महाराष्ट्र कैबिनेट विस्तार के बाद से ही नाराज चल रहे थे, कहीं न कहीं उन्हें ये उम्मीद थी कि कैबिनेट मंत्री का दर्जा गठबंधन में उन्हें दिया जाएगा लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं हुआ और उन्हें कैबिनेट मंत्री की जगह पर राज्य मंत्री की शपथ दिलवा दी गई. वे इससे बेहद नाराज हो गए जिसके चलते उन्होंने मंत्री पद से ही इस्तीफ़ा दे दिया, हालांक एक विधायक के तौर पर अब भी वो शिवसेना मौजूद हैं.

कांग्रेस का दामन छोड़ शिवसेना में शामिल हुए थे अब्दुल सत्तार
आपको बता दें अब्दुल सत्तार महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ही शिवसेना में शामिल हुए थे. उनको कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के दौरान ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ में शामिल होने के आरोपों के चलते पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया था. कांग्रेस द्वारा जालना और औरंगाबाद में जिन लोगों को लोकसभा चुनाव का उम्मीदवार घोषित किया गया था, उन लोगों से सत्तार बेहद ही नाखुश थे जिसके बाद पार्टी के खिलाफ होकर उन्होंने औरंगाबाद लोकसभा सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार हर्षवर्धन जाधव को अपना समर्थन दे दिया था. जब कांग्रेस हाईकमान को इस बगावत का पता चला तो सिल्लोड विधानसभा सीट से विधायक और पूर्व मंत्री अब्दुल सत्तार को कांग्रेस ने पार्टी से निष्कासित कर दिया था.