पाकिस्तान की जनता हुई महंगाई से बेहाल, एक रोटी की कीमत सुनते ही म’र जाएगी भूख

2471

पाकिस्तान की हालत इन दिनों बहुत ही खस्ता चल रही है. ये देश इस वक्त अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है. वहां की जनता पिछले 2 सालों से महँगाई की मार झेल रही है, और राहत का कोई अंदेशा नहीं दिख रहा. उल्टे हालात और खरब होती जा रही है. आलम ये है कि आज पाकिस्तान में एक रोटी की कीमत 30 रुपए हो गयी है.

इस वक्त पाकिस्तान पूरी तरह से कंगाल हो चुका है, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से कड़े निर्देशों के बाद लोन मिला है, लेकिन पाकिस्तान ने पहले ही कई देशों से एक बहुत बड़ी रकम कर्जे में ली थी जिसे उसको आगे चुकाना पड़ेगा और इसी लिए वो अपनी जनता पर टैक्स का भार डाल रहा है.

सरकार ने गेंहू और आंटे दोनो के निर्यात पर प्रतिबंध लगा रखा है. ये बहुत बड़ा चिंता का विषय है, क्योंकि पाकिस्तान में दिन ब दिन खाद्यान्न संकट बढ़ता जा रहा है. 

अब जब देश दिवालिया घोषित होने की कगार पर खड़ा है तो सरकार अपनी नींद से जागी है, और जमाखोरों कर खिलाफ अभियान चला रही है. लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है, इस मुहिम से शायद ही हालात काबू में आए.

पिछले साल पाकिस्तान के एक जाने माने अखबार डॉन में एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी, जिसके मुताबिक पाकिस्तान की कुल आबादी में से लगभग 9% लोग अपनी जान देने की कोशिश कर चुके हैं. इसके पीछे की मुख्य वजह आर्थिक तंगी और सामाजिक मुद्दे ज़िम्मेदार हैं. विश्व स्वस्थ संगठन के आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान में हर 1 लाख लोगों में से 13000 लोगों ने कभी न कभी आत्महत्या करने की कोशिश जरूर की होती है. साथ ही एक रिपोर्ट आई थी जिसके मुताबिक पाकिस्तान की कुल आबादी में से लगभग 30% लोग डिप्रेशन के शिकार हैं.

अगर पाकिस्तान सरकार ने कोई ठोस कदम नही उठाए तो जल्द ही पाकिस्तान की हालत वेनेजुएला जैसी हो जाएगी.