सरकार के इन पांच संकेतो से लग रहा है कि अब कुछ बड़ा होने वाला है.

229

पुलवामा में जवानों की शहादत से पूरे देश से एक ही आवाज गूँज रही हैं आतंकियों का खात्मा करो सरकार! आतंकियों को सह देने वाले देश पाकिस्तान को बर्बाद करो सरकार! हमारे जवानों के कातिलों का खात्मा करो सरकार!
हालाँकि प्रधानमंत्री मोदी ने पुलवामा हमले के अगले ही दिन कहा था कि जो देश मांग रहा है अब वही होगा, जवानों को खुली छूट दे दी गयी है. लेकिन अब हमें पांच ऐसे ही संकेत मिल रहे है कि जिससे लगता है कि अब कोई बड़ी कार्रवाई हो सकती है..


१)लाइव रिपोर्टिंग पर रोक
सरकार ने सभी न्यूज चैनलों को नोटिस जारी करते हुए आदेशित किया है कि कोई भी चैनल घाटी में होने वाली हलचल की सीधी रिपोर्टिंग नही करेगा…सेना द्वारा उठाये जा रहे कदमों की जानकारी टीवी चैनलों पर नही दिखाई जायेगी… आमतौर पर ये फैसले तब लिए जाते हैं जब स्थिति संवेदनशील होती हैं. कारगिल युद्ध के दौरान बरखा दत्त ने लाइव रिपोर्टिंग की थी जिसका फायदा पाकिस्तान को मिला था और इसका खामियाजा देश को भुगतना पड़ा था. लाइव रिपोर्टिंग से दुशमनों को देश को जानकारी मिलती रहती है.


२) सेना पर हमला होने के बाद भारतीय विदेश सचिव ने 25 देशों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की है और पी-5 देशों को अलग से पूरी परिस्थिति के बारे में पूरी जानकारी दे दी गयी है.जिमसें यूनाइटेड नेशंस सिक्‍योरिटी काउंसिल, यूएनएससी, इसके पांच स्‍थायी सदस्‍यों को पी5 के नाम से जानते हैं। पी5 यानी कि परमानेंट5 और इस पी5 में अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और यूके का नाम शामिल है.
इसके अलावा दक्षिण कोरिया, स्वीडन, जर्मनी, हंगीरी, इटली, यूरोपीय संघ, कनाडा, ब्रिटेन, रूस, इजरायल, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, स्पेन, भूटान और जापान के साथ भी विदेश सचिव ने बैठक की है, सभी प्रतिनिधियों को हमले में पाकिस्तान की भूमिका से अवगत करा दिया है. भारत ने पकिस्तान के उच्चायुक्त के साथ बैठक की और उन्हें कड़े शब्दों में चेतावनी दे दी गयी है.


3) हमले के अगले दिन ही पाकिस्तान में पदस्थापित अपने राजदूत अजय बिसरिया को विशेष विमान से भारत बुलाया गया … अजय बिसारिया को बातचीत के लिए पाकिस्तान से भारत आने को कहा गया. सूत्रों ने बताया कि विदेश मंत्रालय ने पुलवामा हमले के मद्देनजर आगे की कार्रवाई पर रणनीति बनाने के लिए बिसारिया को भारत आने का संदेश भेजा.. अजय बिसारिया को भारत वापस बुलाने का मतलब भारत अब पाकिस्तान को छोड़ने के मूड तो बिलकुल नही है…
४) कश्मीर में हुर्रियत नेताओं पर हमेशा से आरोप है कि वे पाकिस्तान के दह्शत गर्दो से पैसा लेते हैं और कश्मीर के युवाओं को गुमराह करते है और पत्थारबाजी के लिए प्रेरित करते हैं. इतना ही नही इस अलगाववादियों पर हमेशा आतंकियों की मदद करने का भी आरोप लगता है ऐसे में सरकार ने अब इन अलगावादियों की सुरक्षा को हटाने का निर्णय लिया है.. और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की दिशा में काम कर रही है. सेना के जवान इन नेताओं की गतिवधियों पर नजर बनाये हुए हैं और जैसे ही इनकी कोई सदिंग्ध हलचल दिखाई देगी, इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.


५) सेना का परीक्षण
इन सब के बीच अब आसमान में भ हलचल दिखाई दे रही हैं. शनिवार को पोखरण रेंज में पाकिस्तान सीमा से सटे इलाके में भारतीय वायुसेना ने अपनी ताकत दिखाई.. पाक सीमा के पास भारतीय वायुसेना के 137 विमान दो घंटे तक गरजते रहे वायुसेना के सबसे बड़े युद्धाभ्यास ‘वायु शक्ति’ के तहत भारत ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया है. इस युद्धाभ्यास में वायुसेना ने लड़ाकू विमानों से दुश्मनों को टारगेट किया और उनके ठिकानों को बर्बाद करने का प्रदर्शन किया. वायुसेना का यह प्रदर्शन पाकिस्तान के लिए खुली चेतावनी थी… वायु सेना के इन लड़ाकू विमानों ने जिस तरह से अपने टारगेट को तहस नहस किया, उससे पकिस्तान की धरती जरुर हिल गयी होगी…
ये संकेत तो यही बता रहे हैं कि अब कुछ बड़ा होने वाला है. हालाँकि क्या होने वाला है इसका हमे इन्तजार करना होगा.