बीजेपी के ये नेता अब बनने जा रहे हैं राज्यसभा सांसद

443

मोदी सरकार 2 बनने के बाद लगातार अपने फैसलों के लेकर चर्चा में हैं. लोकसभा चुनाव खत्म हुआ कई उम्मीदवार जीत दर्ज कर संसद में पहुँच चुके हैं. इन सांसदों में कुछ सांसद ऐसे भी हैं जो पहले से ही राज्यसभा के सांसद थे. लेकिन अब लोकसभा चुनाव जीतने के बाद राज्यसभा से उनकी सीट खाली हो रही हैं. इसमें मौजूदा गृह मंत्री अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी शामिल है. ये तीनों राज्यसभा के सांसद थे लेकिन लोकसभा चुनाव में जीत हासिल कर ये तीनों नेता लोकसभा के सदन में पहुँच गये हैं. राज्यसभा में बीजेपी के तीनों सांसदों की सीट खाली हो गयी है तो अब सवाल है कि बीजेपी इनकी भरपाई कैसे करेगी..आइये हम आपको बताते हैं कि बीजेपी के कौन से नेता राज्यसभा पहुचं सकते हैं.


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोदी के मंत्री मंडल में तीन नेता ऐसे शामिल किये गये हैं जो लोकसभा चुनाव में चुनाव नही लड़े या फिर जीत हासिल नही कर पाए हैं. पहले बात करते हैं. एस जयशंकर की.. एस जयशंकर को विदेश मंत्री बनाया गया है लेकिन वे किसी भी सदन के सदस्य नही हैं. ऐसे में इस बात की उम्मीदों काफी अधिक हैं कि आगामी राज्यसभा चुनाव जो पांच जुलाई को होने जा रहा है उसमें एस जयशंकर को उम्मीदवार बनाया जा सकता है. खबर तो यह भी है कि बीजेपी एस जयशंकर को तमिलनाडु से उतार सकती है. क्योंकि जयशंकर का यह गृहराज्य है और तमिलनाडु में फिलहाल बीजेपी व अन्नाद्रमुक की गठबंधन वाली ही सरकार है जहाँ से छ राज्यसभा सीटें खाली हो रही है.


अगले नंबर हैं केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान.. राम विलास पासवान केन्द्रीय मंत्रिमडल का हिस्सा है लेकिन फिलहाल वे किसी भी राज्यसभा के सदस्य नही है लेकिन बिहार से राज्यसभा सांसद रहे रविशंकर प्रसाद के लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद एक सीट खाली हो रही हैं. उम्मीद तो यही है कि बीजेपी राम विलास पासवान को बिहार से राज्यसभा भेज सकती है. बिहार में जेडीयू और बीजेपी के गठबंधन वाली सरकार हैं और बिहार में भी बीजेपी और जेडीयू के नेतृत्व वाला एनडीए बहुमत में है.
और आगे बात करे तो गुजरात से राजसभा की दो सीटें खाली हो रही हैं. स्मृति इरानी और अमित शाह की…. राज्यसभा पहुँचने वाले सभावित नेताओं में अगला नाम है पूर्व केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा का.. मनोज सिन्हा को लोकसभा चुनाव में गाजीपुर से हार का सामना करना पड़ा था लेकिन खबर के मुताबिक़ अब उन्हें राज्यसभा भेजा जा सकता है.


इसी लिस्ट में केन्द्रीय मंत्री और अपनी तुकबन्दी से सदन के सदस्यों को हसने पर मजबूर कर देने वाले नेता रामदास आठवले को भी बीजेपी राज्यसभा भेज सकती है. क्‍योंकि मोदी कैबिनेट में उन्हें जगह दी गई है जबकि वे अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं.
तो ये थे वे तीन मंत्री जिन्हें बीजेपी राज्यसभा भेज सकती है. हालाँकि कौन सा नेता कहाँ से राज्यसभा का सदस्य बनाया जाएगा ये तो बीजेपी के फैसले के बाद ही साफ़ हो पायेगा क्योंकि अपने कई फैसलों से बीजेपी ने विरोधियों को चकमा दिया है.


उड़ीसा से भी राज्यसभा की तीन सीटें खाली हो रही हैं लेकिन यहाँ बीजेडी मजबूत स्थिति में हैं ऐसे में बीजेडी यहाँ से अपने उम्मीदवारों को जितवाने में कामयाब हो सकती है. आगामी पांच जुलाई को होने जा रहे चुनावों का बिगुल बज गया है. इसमें 18 जून को अधिसूचना जारी होगी. नामांकन की अंतिम तारीख 25 जून है, 26 जून को नामांकन पत्रों की जांच होगी और नाम वापसी की अंतिम तारीख 28 जून होगी. इसके बाद पांच जून को ही मतदान और रिजल्ट दोनों होंगे. यह चुनाव छह सीटों के बाबत होंगे.