ये 4 नेता मिलकर करंगे BJP के राष्ट्रिय अध्यक्ष का फैसला

993

अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद अब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान कोन संभालेगा इसका चुनाव अब जल्द ही होने वाला है. पार्टी के नियम के मुताबिक, एक व्यक्ति दो पद पर नहींं रह सकता है. ऐसे में जेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. इस प्रक्रिया को सुनिश्चित करने के लिए पूर्व केंद्र मंत्री राधामोहन सिंह को चुनाव अधिकारी बनाया गया है. साथ ही विजय सोनकर, हंसराज अहीर और सिटी रवि को भी सह चुनाव अधिकारी के तौर पर नियुक्त कर दिया गया है.

Source: Aaj Tak

भाजपा के अंदर होने वाले सभी चुनावों को सही रूप से करवाने की ज़िम्मेदारी राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी की होगी. सबसे पहले राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी अपनी राज्यस्तरीय टीम को गठित करेगा और फिर संगठित चुनाव कराए जाएंगे. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव तभी करवाए जाएंगे जब आधे से ज़्यादा राज्यो के चुनाव पूर्ण रूप से सम्पन्न हो जाए.

Source: Rediff.com

पार्टी का रास्ट्रीय अध्यक्ष बनने के लिए कुछ चीज़ें अनिवार्य हैं जैसे कि धरा-19 के तहत चुनावी प्रक्रिया के ज़रिए ही अध्यक्ष को चुना जाएगा. अध्यक्ष के चुनाव में खड़े होने के लिए नियुन्ताम 4 अवधियों तक सक्रिय सदस्य के रूप में मौजूद होना अनिवार्य है. इसके साथ ही काम से कम 15 साल से अधिक वर्षों से पार्टी से जुड़ा हुआ होना चाहिए.

Source: NDTV India

राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम को प्रस्तावित करने के लिए कुल 20 सदस्य निर्वाचक मंडल से नाम को आगे बढ़ेंगे. प्रस्ताव का उन 5 प्रदेशों से आया होना अनिवार्य है जहां पहले से ही चुनाव सम्पन्न हो चुके हों. 2016 में हुए रास्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में अमित शाह को अध्यक्ष के तौर पर चुना गया था, जिसके बाद वो अगले तीन सालों तक बखूबी इस पद को संभल रहे थे. लेकिन अब मंत्रीमंडल में शामिल होने के बाद भाजपा अब उसके जैसा ही दिग्गज नेता तलाश रहे हैं जो दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा का कार्यभार संभल सके.