‘अंकित शर्मा की ह’त्या’ पर झू’ठ फैलाने वाले अमेरिकी अखबार के खिलाफ पु’लि’स में शि’का’यत दर्ज

1326

दिल्ली दं’गों के दौरान मा’रे गए IB ऑफिसर अंकित शर्मा की ह’त्या पर गलत रिपोर्ट प्रकाशित करने के कारण अमेरिकी अखबार द वाल स्ट्रीट जर्नल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज हो गई है. 26 फ़रवरी को द वाल स्ट्रीट जर्नल में दिल्ली हिं’सा पर India’s Ruling Party, Government Slammed Over Delhi Vio’lence  नाम से एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी. इस रिपोर्ट में लिखा गया था कि जय श्री राम का नारा लगाती भी’ड़ ने IB ऑफिसर अंकित शर्मा को उनके घर से खिं’च लिया और उनकी ह’त्या कर श’व को नाले में फें’क दिया. इस रिपोर्ट को लिखा था कृष्ण पोखारेल, विभूति अग्रवाल और राजेश रॉय ने. उन्होंने कहा था कि अंकित शर्मा के भाई अंकुर शर्मा ने द वाल स्ट्रीट जर्नल को फोन पर ये बात बताई थी.

लेकिन ये रिपोर्ट पूरी तरह से फे’क थी और हिन्दुओं को ब’दना’म करने के लिए प्रकाशित की गई थी. अंकित शर्मा के भाई अंकुर शर्मा ने इस बात से साफ़ साफ़ इनकार किया कि द वाल स्ट्रीट जर्नल या फिर किसी भी अन्य विदेशी अखबार से उनसे कोई बात की थी. सच्चाई तो ये थी कि अंकित शर्मा के परिवार ने AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर अंकित की ह’त्या का आ’रोप लगाया था. चश्मदीदों का कहना है कि मुस’लमा’नों की भी’ड़ अंकित शर्मा को खिं’च कर ताहिर हुसैन के घर में ले गई और वहां पर उनकी ह’त्या कर ला’श को घर के पीछे ना’ले में फें’क दिया गया.

दिल्ली और मुंबई पुलिस में द वाल स्ट्रीट जर्नल के खिलाफ शि’का’यत दर्ज कराई गई है. शिकायत में कहा गया है कि अख़बार ने एक ख़ास ध’र्म को बद’नाम करने और सा’म्प्रदा’यिक’ता फैलाने के उद्धेश्य से गलत खबर को प्रकाशित किया. ये भी मांग की गई है कि क्या अमेरिकी अखबार की भी दिल्ली दं’गों में कोई भूमिका थी, इस बात की भी जांच कराई जाए.