तेलंगाना सरकार ने रि’पोर्ट ने कहा कोरोना से जं’ग में ये द’वा प्र’भावशाली

203

भारत ने कई देशों की कोरोना का’ल के बीच मदद करके ये साबित कर दिया है. कि खुद चाहे कितने बड़े संक’ट में हो लेकर अगर भारत से कोई भी देश मदद मांगेगा तो भारत हमेशा आगे आकर उनकी मदद करेगा. भारत ने कोरोना संक’ट के बीच कई देशों में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन नामक द’वा भेजी है. जो कोरोना से ल’ड़ने में मददगार साबित हुई है.

जिसके बाद अब तेलंगाना सरकार ने भी अपनी एक अंतरि’म रिपो’र्ट में राज्य में चि’कित्साक’र्मियों को कोविड-19 संक्र’मण से बचाने में हा’इड्रोक्सीक्लो’रोक्वीन के प्र’भावकारी प’रिणामों की बात कही है. दरअसल अन्य देशों के साथ साथ भारत खुद भी इस द’वा का उपयोग कोरोना के इलाज के लिए कर रहा है. जिस पर अब तेलंगा’ना सरकार ने भी अपने अध्य’न में कहा है कि जिन 70 फी’सदी से अधिक स्वा’स्थ्यकर्मियों ने मले’रिया के लिए प्रयोग की जाने वाली द’वा को ट्रा’यल के आधा’र पर कोरोना से बचने के लिए उपयोग किया है. उनमें से किसी में भी कोरोना वायरस संक्रम’ण के कोई ल’क्षण नहीं दिखे है.

इसके अलावा उनमें कोरोना वायरस को लेकर रो’ग प्रति’रोधक क्ष’मता मज’बूत दिखाई दी है. इसके साथ ही 71 फीसदी स्वास्थ्य’कर्मी की रि’पोर्ट भी नेगे’टिव आई है. वही जारी की गयी रिपो’र्ट में कहा गया है कि हा’इड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का सेवन करने वाले 533 स्वा’स्थ्यक’र्मियों में से 394 का कोरोना संक्र’मितों के साथ संप’र्क हुआ. जिन सभी को सला’ह दी गई थी कि जब भी ये कोरोना मरीज के सं’पर्क में जाए तो  पीपीई किट को जरूर पहनें. इसके अलावा इनमें से किसी में भी कोविड-19 के लक्ष’ण नहीं दिखाई दिए है.

जाहिर है जब तक कोरोना की वै’क्सीन का नि’र्माण नहीं हो जाता तब तक इस ही दवा के सहारे लोगो का इलाज किया जा रहा है. ताकि लोगो को जल्द से जल्द ठीक किया जा सके.