बीजेपी प्रदेश उ’पाध्यक्ष राजीव रंजन ने तेजस्वी यादव पर सा’धा नि’शाना , कहा “तेजस्वी ने अपने अहं’कार…”

56

बिहार में विधानसभा चुनावो का आ’गाज हो चुका है. साथ ही तारीखों का भी ऐ’लान किया जा चुका है. वही आ’रोप प्र’त्या’रोप का सिल’सिला भी अपने च’रम पर है. इतना ही नहीं चुनाव के नज’दीक आते ही चुनावी द’ल ब’दली भी शुरू हो गयी है. वही दूसरी तरफ कांग्रेस भी सीट बं’टवारे को लेकर जल्द ही फैसला लेने वाली है.

वही दूसरी तरफ महाग’ठबंधन में सीट शेय’रिंग को लेकर घमा’सान मचा हुआ है और ओस बीच बीजेपी के प्रदेश उपा’ध्यक्ष राजीव रंजन ने तेजस्वी यादव पर नि’शाना सा’धते हुए कहा कि ‘अपने अहंका’र के का’रण आरजेडी की दुर्ग’ति करने के बाद अब तेजस्वी ने महाग’ठबंधन का भी बंटा’धार कर दिया है. उनके रू’खे ब’र्ताव के कार’ण उनके अन्य सहयो’गियों ने तो उनका साथ छोड़ ही दिया और अब उनके रह’मो-क’रम पर राज’नीति करने वाली कांग्रेस ने भी उन्हें आं’खे दिखाना शुरू कर दिया है.’

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ‘परिक्र’मा करने वाले लोगों को छोड़ दें तो तेजस्वी पर अब उनके कार्य’कर्ताओं का भी भरो’सा नहीं है. रही-सही क’सर रघुवंश बाबू के साथ हुए ब’र्ताव ने पूरी कर दी है. आगा’मी चुनाव के बाद नि’श्चय ही इनकी पार्टी दो फा’ड़ हो जाएगी.’ इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि ‘जो नेता अपने से अधिक उ’म्र के नेताओं, कार्यकर्ताओं यहां तक कि पार्टी की स्था’पना करने वाले की इ’ज्जत नहीं कर सकता, वह मौका मिलने पर जनता का क्या हा’ल कर सकता है, यह बिहार के लोग अच्छे से जानते हैं.’

जाहिर है बिहार में चुनावी ल’हर तेज़ हो गयी है और इसी वजह से चुना’वो को देखते हुए आ’रोप प्रत्या’रोप का सिल’सिला भी शुरू हो गया है. जिसके बाद ये देखना होना कि चुनाव के बाद किसकी सरकार बनती है और बिहार की स’त्ता पर फिर से किसका व’र्चस्व स्था’पित होता है.