बिहार चुनाव में इस बार पीएम मोदी नही बल्कि सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ रणनीति बना रहें है तेजस्वी यादव

78

बिहार चुनाव की तारीखों का ऐलान आज हो सकता है. जिसकी वजह से कयासों का बाज़ार काफी गर्म चल रहा है. अभी खबर आ रही है की आज दोपहर में इलेक्शन कमीशन प्रेस कांफ्रेंस करेगा. बिहार चुनाव को लेकर सभी पार्टियां बड़ी जोरशोर से अपने प्राचर में लगी है. लेकिन सबसे बड़ा स’रद’र्द सीट के बंटवारे को लेकर चल रही है. फिर चाहे वो महागठबंधन हो या फिर एनडीए हर जगह सीट को लेकर खीं’चता’न चल रही है.

महागठबंधन की बात करें तो तेजस्वी यादव फूं’क-फूं’क कर चुनावी प्रचार में आगे बढ़ रहे है. तेजस्वी की नज़र फ्लोटिंग वोट पर है. जो नीतीश कुमार से नाराज़ चल रहे है. इस चुनाव में लालू यादव के लाल तेजस्वी यादव अब अपने पिता की छाया से मुक्ति चाहते हैं. वे अपनी और अपनी पार्टी आरजेडी की एक नई इमेज गढ़ना चाहते हैं. नये नारे बन रहे. चुनावी पोस्टर से लालू की विदाई हो चुकी है. नया नारा है नई सोंच, नया बिहार,अबकी बार इस नारे के साथ तेजस्वी चुनावी मैदान में उतर रहे है.

इस चुनाव प्रचार में तेजस्वी यादव बहुत फं’कफूं’क कर कदम रख रहे है. वो पीएम मोदी को लेकर ह’म’ला नही कर रहे है. तेजस्वी नीतीश कुमार को लेकर चुनावी ह’म’ले बोल रहे है. तेजस्वी जानते है की अगर उन्होने ऐसा किया तो नुकसान उन्ही का होगा. तेजस्वी इस बार की जो चुनाव की रणनीती बना रहे हैं. वो पीएम मोदी के खि’ला’फ नही है बल्कि नीतीश कुमार के खि’ला’फ है.इस चुनाव में तेजस्वी यादव अपनी एक नई छवी के साथ चुनाव में उतर कर कुछ अलग करना चाहते है. तेजस्वी इस बार अतिपिछड़ा वोट को भी साधने की कोशिश में लगे है.