बंगाल के बाद अब बिहार में खेला की तैयारी,लालू ने अपने जन्मदिन पर मांझी को भिजवाया ख़ास सन्देश

53

बंगाल में मुकुल रॉय से मिले झटके से बीजेपी अभी उबरी भी नहीं थी कि बिहार में मांझी ने बीजेपी को टेंशन दे दी. जिस तरह से मांझी का मन डोल रहा है उसे देखते हुए ये अटकलें लगने लगी है कि अब बिहार में भी खेला दूर नही. क्योंकि अब लालू यादव जेल से बाहर आ चुके हैं और उन्होंने अपने पत्ते चलने शुरू भी कर दिए हैं. इसकी बानगी दिखी आज उनके जन्मदिन पर. जब एक बड़ा घटनाक्रम सामने आया.

आज लालू यादव का जन्मदिन था और आज ही उनके बड़े बेटे तेज प्रताप यादव हम पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से मिलने उनके घर पहुँच गए. ऊपर से ये मुलाकात एक बंद कमरे में हुई. जिसके बाद ये कयास लगाए जाने लगे कि बंद कमरे में आखिर क्या बात हुई होगी. इस मुलाकात के बाद दोनों नेता सामने आये. तेज प्रताप ने मांझी को अंकल कह कर डोरे डाले और कहा कि परिवार में मिलना-जुलना होता रहता है. वह अंकल से मार्गदर्शन लेने आते रहते हैं. जबकि जीतन राम मांझी ने कहा तेजप्रताप एक गैर राजनीतिक संगठन बनाना चाहते है जिसमें सभी दलों में वरिष्ठ नेताओं को जोड़ने की कोशिश है. साथ ही जब उनसे एनडीए में रहने को लेकर सवाल किया गया तो मांझी ने कहा कि एनडीए में न रहने का कौन सवाल है भाई. दोनों नेता मीडिया के सामने चाहे जो कहें लेकिन अंदरखाने की खबर ये है कि तेज प्रताप लालू यादव का कोई ख़ास सन्देश ले का मांझी से मिलने आये थे.

नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक बंद कमरे में तेज प्रताप और मांझी की मुलाकात के दौरान तेजप्रताप ने उनकी बात अपने मोबाइल से लालू यादव से कराई. हालाँकि ये सामने नहीं आ सका कि ये बातचीत सिर्फ जन्मदिन की बधाई देने तक ही सिमित रही या फिर कोई सियासी बातचीत भी हुई. लेकिन अटकलों पर भाजपा नेता सुशील मोदी ने ये कह कर हमला किया कि जीतन राम मांझी एनडीए में है एनडीए में ही रहेंगे क्योंकि उन्होंने आरजेडी का कुशासन भी देखा है. इसलिए किसी को मुगालते में नहीं रहना चाहिए कि मांझी कहीं जाने वाले हैं.