ट्रेन की सवारी भी इन बच्चों के लिए थी मुश्किल, टीचर ने किया ऐसा काम कि हर जगह हो रही है तारीफ

275

आज के समय में विज्ञानं ने इतनी तरक्की कर ली है कि सुविधाओं और संसाधनों की कोई कमी नहीं है बस आपके पास पैसा होना चाहिए. सभी संसाधनों का इस्तेमाल करने के लिए आपके पैसे होना जरुरी है. इस देश में न जानें ऐसे कितने लोग हैं जो बहुत सी सुविधाओं का इस्तेमाल तो छोड़िये कभी उनमें बैठे ही ना होंगे, जैसे ट्रेन यात्रा, हवाई यात्रा. आज के समय में गरीब और गाँव के लोगों के लिए हवाई जहाज में यात्रा करना बहुत बड़ी बात होती है.

जानकारी के लिए बता दें एक सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले गरीब बच्चों को हवाई जहाज में बैठना एक सपने जैसा ही होता है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी उसकी तारीफ किये बिना नहीं रह पाएंगे. जो गाँव के बच्चे कभी ट्रेन में भी नहीं बैठ पाए होंगे उन्हें सरकारी स्कूल के हेडमास्टर ने हवाई यात्रा का सफ़र करवाया जोकि मिसाल बन गया है.

दरअसल देवास के आगरोद संकुल के ग्राम बिजेपुर स्कूल के हेडमास्टर किशोर कनासे ने एक नहीं बल्कि 18 बच्चों को अपने खर्चे पर हवाई जहाज की सैर करवाई. ऐसा पहली बार ही हुआ है कि जब किसी शिक्षक ने सरकारी स्कूल के बच्चों को अपने खर्चे पर हवाई जहाज में यात्रा करवाई हो. उनके इस शानदार काम की हर तरफ तारीफ हो रही है. वहीं बच्चे भी हवाई जहाज में बैठने के बाद बेहद ही खुश हैं.

गौरतलब है कि अक्सर सरकारी स्कूलों को लेकर लापरवाही की खबरें ही सामने आती हैं लेकिन ऐसे में किशोर कनासे ने ये काम करके सरकारी टीचर के रूप में बड़ा काम किया है. इतना ही नहीं वह बच्चों को हवाई यात्रा के अलावा और भी कई जगहों पर घुमाने के लिए ले गये. उन्होंने बच्चों को दिल्ली का ऐतिहासिक लाल किला, संसद भवन, क़ुतुब मीनार, अक्षर धाम, और राष्ट्रपति भवन ऐसी जगहों पर घुमाकर वहां के बारे में बताया. बता दें समय-समय पर ये टीचर अपने स्कूल के बच्चों के लिए अपने पैसे से किताब, स्कूल बैग कापियां जैसी कई चीजों की व्यवस्था करते रहते हैं.