महाराष्ट्र के बाद इस राज्य में भी 31 मई तक बढाया गया लॉकडाउन, जारी रहेंगी ये पाबंदियां

1095

देश भर में कोरोना के क’हर से हा’हाकार मचा हुआ है. जिसकी वजह से लॉकडाउन किया गया है. आज लॉकडाउन का तीसरा चरण स’माप्त हो जायेगा. सरकार ने इस बार लॉकडाउन में कुछ राहत दी थी. जिसके बाद देश को तीन जोन में बाँटा गया था. वही स्थिति को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 31 मई तक के लिए राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है.

जिसके बाद अब तमिलनाडू सरकार ने भी 31 मई तक के लिय लॉकडाउन को बढ़ा दिया है. दरअसल अभी देश भर में कोरोना से सं’क्रमित मरीजो की संख्या कम नहीं हुई है. और स्थिति को बेहतर बनाये रखने के लिए तमिल सरकार ने यह फैसला लिया है. जिसके लिए सरकार ने कुछ दिशानिर्दे’श भी जारी किये है. साथ ही कुछ इला’कों को सरकार ने राहत भी दी है. जिसमें कोयम्बटूर, सलेम, वेल्लोर, नीलगिरी, कन्याकुमारी, त्रिची, ईरोड, कृष्णानगरी, मदुरई इत्यादि.

इसके अलावा इन जिलों में लॉकडाउन बढ़ाने के साथ राज्य सरकार ने लोगों को कई तरह की राहत दी है. अब एक जिले के अंदर बसों से आने-जाने के लिए ई पास की जरूरत नहीं पड़ेगी. एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए ई पास की जरूरत अभी भी होगी. सरकार ने लोगों से अपी’ल की है कि सिर्फ काम के लिए ही ट्रां’सपोर्ट का इस्ते’माल करें, ताकि सं’क्रमण कम से कम हो. इसके अलावा सरकारी या प्राइवेट बस में सिर्फ 20 लोग ही जा सकते हैं, बड़े वैन में 7 लोगों को जाने की इ’जाजत होगी, जबकि इनोवा जैसी कार में 3 लोग जा सकेंगे, छोटी कारों में 2 लोग ही जा सकेंगे.

वही सरकार ने जिन 25 जिलों को राहत दी है, वहां टैक्सि’यां चल सकती है, लेकिन टैक्सि’यों का परिचालन जिले की सीमा के अंदर ही होगा. मनरेगा प्रोजेक्ट में 100 फीसद क्ष’मता के साथ काम किया जा सकेगा. चेन्नई छोड़कर जिन फैक्ट्रि’यों में 100 से कम मजदूर काम करते हैं वहां 100 फीसद क्षम’ता के साथ काम करने की इजा’जत होगी. जहां से 100 से ज्यादा मजदूर काम करते हैं वहां 50 फी’सदी क्षमता के साथ काम किया जा सकेगा. सोशल डि’स्टेंसिंग का पालन जरूरी होगा, मा’स्क नि’श्चित रूप से पहनना पड़ेगा.

जाहिर है तमिलनाडू में बाकी राज्यों के मुकाब’ले कोरोना से सं’क्रमित लोगो की संख्या का आं’कड़ा 10 हजार के पार हो गया है. ऐसे में सं’क्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन को बढ़ाना ही बेहतर ऑप्श’न है.