ताहिर हुसैन को लेकर पुलिस की छा’नबीन जारी, लेकिन अभी तक नहीं मिली का’मयाबी

193

बीते कुछ दिनों पहले दिल्ली के उत्तर पूर्वी इ’लाके में हुई हिं’सा के दौरान दिल्ली में 45 लोगो की मौ’त हो गयी और सै’कड़ो लोग घा’यल हो गए. जिसके बाद दिल्ली को छावनी में त’ब्दील कर दिया गया और 1 महीने के लिए दिल्ली में धा’रा 144 ला’गू कर दी गयी. बता दें दिल्ली हिं’सा के दौरान IB कांस्टेबल अंकित शर्मा की ह’त्या कर दी गयी थी. जिसके बाद से त’नाव और बढ़ गया.

हिं’सा के दौरान जिस व्यक्ति ने IB कांस्टेबल अंकित शर्मा की ह’त्या की थी वो अभी भी फ’रार चल रहा है. जिसे गि’रफ्ता’र करने के लिए पुलिस पूरी को’शिश कर रही है. बता दें अंकित शर्मा के ह’त्या’रे ताहिर हुसैन को प’कड़ने के लिए पुलिस अभी तक उसके गाँव में नहीं गयी है और न ही पुलिस ने उसके गाँव की स्थानीय पुलिस से कोई सं’पर्क किया है. दरअसल ताहिर हुसैन अमरोहा जिले के पौरारा गाँव का रहने वाला हैं.

दिल्ली के उत्तर पू’र्वी इ’लाके में हुई हिं’सा के बाद से ताहिर हुसैन फ’रार हैं और उस पर अंकित शर्मा की ह’त्या का भी आ’रोप है जिसके बाद से उस पर FIR भी द’र्ज की जा चुकी है. बात दें ताहिर हुसैन आम आदमी पार्टी से पा’र्षद था. जिसके बाद ह’त्या का आ’रोप लगने के बाद से ही ताहिर हुसैन को पार्टी से निकल दिया गया है. वहीं ताहिर हुसैन को लेकर उनके गाँव के थाना प्रभारी ने बताया कि अभी तक दिल्ली पुलिस की टीम ने इ’लाके में  आकर कोई सं’पर्क नहीं किया है. क्यूंकि अगर दिल्ली पुलिस की टीम यहाँ आती तो ताहिर हुसैन के मा’मले में सं’पर्क जरुर करती.

अब सवाल यह है कि क्या ताहिर हुसैन ने पुलिस को गु’मराह करने के लिए ही खुद को कही छु’पा के रहा हुआ है या फिर दिल्ली पुलिस का उसके गाँव अभी तक न जाने के पीछे भी ताहिर हुसैन को बचाना है. सवाल कई है और कई सवाल खुद दिल्ली पुलिस को घेरे हुए है जिनका जवाब ताहिर हुसैन की गि’रफ्तारी के बाद ही पता चलेगा.