सामने आया तबलीगी जमात का रोहिंग्या कनेक्शन, गृह मंत्रालय ने राज्यों को अलर्ट जारी करते हुए दिया ये आदेश

15903

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है. ये खुलासा है तबलीगी जमात और रोहिग्या शरणार्थियों के बीच कनेक्शन की. गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार निजामुद्दीन के मरकज में हुए तबलीगी जमात के इस्लामिक कार्यक्रम में कई रोहिंग्या शामिल हुए थे. लेकिन वो मरकज़ से निकलने के बाद अपने अपने शरणार्थी कैम्पों में नहीं लौटे, उनका गायब होना देश के लिए चिंता की बात है इसलिए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को अलर्ट जारी किया है. इस वक़्त देश के अलग अलग हिस्सों में करीब चालीस हज़ार रोहिंग्या रहते हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों की कोरोना जांच कराए क्योंकि इनमें से कई दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे. अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि कई रोहिंग्या मुसलमान तबलीगी जमात के ‘इज्तिमास’ और अन्य धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल हुए थे और उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है. मंत्रालय ने कहा कि हैदराबाद के शिविर में रहने वाले रोहिंग्या हरियाणा के मेवात में आयोजित तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे और वे दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित मरकज भी आए थे.

दिल्ली के शाहीन बाग़ और श्रम विहार इलाके में रहने वाले रोहिंग्या भी तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे. लेकिन वो वापस अपने कैम्प में नहीं लौटे. राज्यों से किए गए संवाद में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा, ‘इसलिए रोहिंग्या मुसलमानों और उनके संपर्क में आने वालों की कोरोना जांच कराने की जरूरत है और इसी के अनुरूप प्राथमिकता के आधार पर कदम उठाने की जरूरत है.’