तबलीगी जमात के कार्यक्रम में इस राज्य के 1000 लोग हुए थे शामिल, मचा हड़कंप

684

निजामुद्दीन में हुए तबलीगी जमात के इस्लामी जलसे ने पूरे देश में हड़कंप मचा रखा है. इस जलसे में 19 राज्यों के 2000 लोग शामिल हुए थे. अब खबर आ रही है कि इन 2000 लोगों में से एक ही राज्य के 1000 लोग शामिल हुए थे. इस खबर के सामने आने के बाद उस राज्य में हड़कंप मचा हुआ है. अब तक मरकज में आये 2100 से ज्यादा लोगों की पहचान की जा चुकी है. तेलंगाना सरकार का अनुमान है कि सूबे से करीब 1000 लोगों ने निजामुद्दीन में जमात में हिस्सा लिया था. जिनमे से 7 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई. उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के लोग भी मरकज में आये थे.

गृह मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि 21 मार्च तक निजामुद्दीन मरकज में कुल 1746 लोग थे जिनमें 216 विदेशी भी शामिल हैं. गृह मंत्रालय ने बताया कि निजामुद्दीन मरकज के अलावा तबलीगी जमात के देश के अन्य मरकजों में 824 विदेशी छुपे हुए थे. आज देश के कई शहरों की मस्जिदों से कई विदेशी मुसलमाओं को पुलिस ने छापेमारी कर पकड़ा और उन्हें जांच के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. लखनऊ और महाराष्ट्र के अहमद नगर से कई विदेशी मौलानाओं को पुलिस ने पकड़ा.

गृह मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि अब तक देशभर में ऐसे 2,137 लोगों की पहचान की जा चुकी है. इन लोगों की मेडिकल जांच की जा रही है और इन्हें क्वारंटीन में रखा गया है. गृह मंत्रालय के मुताबिक ऐसे अभी और लोगों की पहचान की जा रही है. उत्तर प्रदेश के 19 जिलों में पुलिस ऐसे लोगों कको तलाश रही है जो मरकज में आये थे. नोएडा और ग्रेटर नोयडा के 19 लोग जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कोरोना के सबसे ज्यादा केस नोएडा में ही सामने आये हैं. इस पूरे काण्ड ने देश, सरकार, सुरक्षा एजेंसियां और स्वास्थ्य एजेंसियों के होश उड़े हुए हैं.