तबलीगी जमात ने देश में बढ़ाये कोरोना मरीजों की संख्या, कई और नई जगह तबलीगी जमात ने फैलाया कोरोना

208

दिल्ली समेत पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है. दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए एक मजहबी जलसे में देश विदेश के करीब 2000 लोग शामिल हुए और फिर वहां से निकल कर देश के अलग अलग हिस्सों में फ़ैल गए. अब तेलंगाना में इस जलसे में शामिल हुए 6 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो गई है. दिल्ली में करीब 11 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है. ये सभी निजामुद्दीन के उसी मजहबी जलसे में शामिल हुए थे. ये मज़हबी जलसा एक इस्लामी संगठन तबलीगी जमात ने आयोजित किया था.

देशभर में आज कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है. वहीं दिल्ली के निजामुद्दीन के तबलीगी जमात मरकज में 18 मार्च को हुए आयोजन में शामिल हुए 9 लोगों ने इस खतरे को अंडमान तक पहुंचा दिया है. तबलीगी जमात है क्या आपको बता देते हैं. तबलीगी का मतलब होता है ‘अल्लाह की कही बातों का प्रचार करने वाला.’ वहीं “जमात” का मतलब होता है ‘समूह’. यानी ‘अल्लाह की कही बातों का प्रचार करने वाला समूह.’ “मरकज” का मतलब होता है ‘मीटिंग’ के लिए जगह. दरअसल, तबलीगी जमात से जुड़े लोग पारंपरिक इस्लाम को मानते हैं और इसी का प्रचार-प्रसार करते हैं.

तबलीगी जमात के लोगो ने भारत को अंदर कोरोना को बहुत बुरी तरह से फैला दिया है. तबलीग जमात का ये सिलसिला शुरू होता है दिल्ली के निजामुद्दीन से और दिल्ली की केजरीवाल सरकार सिर्फ आंखे बंद करे चुपचाप ये सब देखती रही. क्या केजरीवाल के इसकी खबर तक नही थी? वैसै तो केजरीवाल बहुत बड़ी बाते करते हैं.कुछ दिन पहले केजरीवाल ने दिहाड़ी मजदूरों को भी दिल्ली से बाहर करने का कोम किया था.

आज देख के अंदर कोरोना को रोकने के लिए प्रधानमंत्री दिन रात लगे हुए है.  ताकि कोरोना जैसी महामारी को खत्म किया जा सके. वहीं गूसरी ओर केजरीवाल ये काम कर रहा है. आज तबलीग जमात की वजह से अंडमान में भी कोरोना वायरस के 10 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इनमें से 9 दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी जमात के मरकज से वापस लौटे लोग थे.

हैरान करनो वाली बात ये है कि मरकज की जिस 6 मंजिला बिल्डिंग में ये लोग जमा थे, वह हजरत निजामुद्दीन पुलिस थाने से बिल्कुल सटी हुई बिल्डिंग है. मतलब ये सब पुलिस की नाक के नीचे होता रहा और पुलिस सोती रही. इस कार्यक्रम को आयोजित करने वाले आयोजकों ने घोर अपराध किया है और उनके ऊपर दिल्ली सरकार ने आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश भी दे दिए हैं.

तबलीगी जमात के इस कार्यक्रम दिल्ली के अंदर होना जिस वक्त देश के अंदर महानृमारी के हाताल बने हो. ये सारा काम ऐसा लगता है कि केजरीवाल सरकार का किया धरा लगता है. लेकिन दिल्ली सरकार को कोरोना जैसी बिमार को दूर करने के लिए इस वक्त ऐसा काम लो करे जिससे देश को भारी नुक्सान हो.