स्वरा भास्कर का हुआ छीछालेदर, मुस्लिम बुजुर्ग की पि’टाई मामले पर ट्वीट करना पड़ा भारी

227

गाजियाबाद के लोनी में बुजुर्ग मुस्लिम की पि’टाई और उसके पीछे जय श्री राम के नारे के आरोपों की गुत्थी सुलझ गई. ये पूरा मामला ताबीज का था जिसे जिसे जबरन जय श्री राम के साथ जोड़ कर धार्मिक रंग देने का प्रयास किया गया. ट्विटर पर कुछ प्रमुख एजेंडाबाज लोगों ने इस मामले को जमकर उछाला. लेकिन यूपी पुलिस ने सबकी कोशिश को नाकाम कर दिया. ट्विटर समेत 9 लोगों पर FIR भी दर्ज की गई जिसके बाद अफवाह फैलाने वाले लोग अब सफाई देते फिर रहे हैं. लेकिन सारा मामला साफ़ होने के बाद भी स्वरा भास्कर नहीं रुकी और अफवाह फैलाना जारी रखा. यही नहीं, उन्होंने तो मुख्य आरोपी का नाम भी बदल दिया. जिसके बाद वो लोगों के निशाने पर आ गई और उनकी जमकर फजीहत हुई.

स्वरा भास्कर ने गाजियाबाद की घटना पर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘गाजियाबाद पुलिस ने 3 मुस्लिमों को आरोपित क्या बनाया, मेरी टाइमलाइन पर दक्षिणपंथी और संघी उ’ल्टियाँ करने पहुँच गए हैं. अरे बेहू’दों, मुख्य आरोपित परवेश गुज्जर है, ये एक वास्तविकता है. ये व्यक्ति वीडियो में भी दिख रहा है, जो कैमरा के सामने ही बुजुर्ग पी’ड़ित को ‘जय श्री राम’ बोलने के लिए मजबूर कर रहा है. हाँ, ये मेरे धर्म और मेरे ईश्वर को दूषित करने का प्रयास है.’

यहाँ स्वरा भास्कर ने मुख्य आरोपी के नाम साथ हेरफेर कर उसका धर्म ही बदल डाला. मुख्य आरोपी का नाम परवेज़ गुज्जर है. जिसे स्वरा भास्कर ने परवेश गुज्जर बना दिया. स्वरा की इस हरकत से लोगों का गुस्सा भड़क उठा. और तो और जिस वीडियो के आधार पर स्वरा जय श्री राम का नारा लगवाने की बात कह रही हैं, वो वीडियो म्यूट है. अब बिना आवाज की वीडियो में जय श्री राम का नारा बस स्वरा भास्कर को ही कैसे सुनाई दिया ये तो वही बता सकती हैं. फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने स्वरा भास्कर के खिलाफ भी FIR दर्ज करने की मांग की. अन्य यूजर्स ने भी ऐसी ही मांग की. दरअसल स्वरा भास्कर सेलेक्टिव एजेंडा चलाने के लिए बदनाम है. इसलिए अक्सर वो लोगों के निशाने पर आती रहती है. यहाँ भी उन्होंने ऐसा ट्वीट तब किया जब पुलिस ने सारे मामले को सुलझा लिया.