स्वरा भास्कर ने फिर उगला ज़’हर, अयोध्या फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी उठा दिए सवाल

4633

स्वरा भास्कर को तो आप जानते ही होंगे. नहीं, मैं उस स्वरा भास्कर की बात नहीं कर रहा जिन्होंने तनु वेड्स मनु और राँझना जैसी फिल्मों में बेहतरीन एक्टिंग की. मैं उस स्वरा भास्कर की बात कर रहा हूँ जिन्हें फ़िल्में मिलनी बंद हो गई तो उन्होंने प्रोपगैंडा की दूकान खोल ली, सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

स्वरा भास्कर का आज कल एक ही काम है, प्रोपगैंडा फैलाना. देश के खिलाफ, सरकार के खिलाफ, एक पार्टी के खिलाफ और एक धर्म के खिलाफ. ऐसा लग रहा है मानों उनमे और रवीश कुमार में होड़ लगी हो कि कौन 2024 में विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होगा.

पिछले दिनों जामिया और शाहीन बाग़ में गो’ली चली तो स्वरा भास्कर के तेवर देखते ही बनते थे. फिर दो दिनों बाद दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया कि जामिया में गो’ली चलाने वाला आम आदमी पार्टी से जुड़ा हुआ है तो स्वरा भास्कर के सारे तेवर ढीले पड़ गए. वो तो सोशल मीडिया से गायब ही हो गई. यूँ लगा मानों वो अपने ट्विटर अकाउंट का पासवर्ड भूल गईं हो. एक शब्द नहीं ट्वीट किया उन्होंने क्योंकि वो अपनी चहेती पार्टी के खिलाफ कुछ नहीं कह सकती थीं. ये उनके एजेंडे के खिलाफ जो था. लेकिन अब वो फिर सक्रीय हो गईं है और जम कर ज़’हर उगल रही है. सरकार के खिलाफ, देश के खिलाफ, सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ और हिन्दुओं के खिलाफ.

स्वरा भास्कार का नया वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वो अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की खिलाफत कर रही हैं. इसके अलावा वो शाहीन बाग़ और जामिया में फा’य’रिंग को लेकर तंज कस रही हैं. कुणाल कामरा और अर्नब गोस्वामी काण्ड का जिक्र करते हुए वो कह रही हैं कि लोग सड़कों पर बन्दू’क ले कर घूम रहे हैं और कुछ लोग फालतू की बहस में उलझे हैं. वो कहती हैं कि एक स्टैंडअप कॉमेडियन ने किसी व्यक्ति को परेशान किया. स्वरा के लिए मीम बना कर फालतू की बकवास करने वाला तो सम्मानित व्यक्ति है लेकिन एक चैनल चलाने वाला वरिष्ठ जर्नलिस्ट ‘किसी व्यक्ति’ हो गया.

राम मंदिर फैसले का जिक्र करते हुए सुप्रीम कोर्ट पर सवाल उठाती है. स्वरा कहती है कि हम एक ऐसे देश में रहते हैं जहाँ शीर्ष अदालत एक तरफ तो कहती है कि मस्जिद तोड़ना गैरकानूनी है, दूसरी तरफ मस्जिद की जमीन उन्हें ही सौंप देती है जिन्होंने उसे तोड़ा. स्वरा ये भूल जाती है कि जमीन तो उन्हें ही मिली है जिनकी मंदिर 500 साल पहले स्वरा भास्कर के चहेते मुगलों ने तोड़ दिया था.

स्वरा कहती है कि लोग मां’स खाते हैं इसलिए उनके घरों में घुस कर लू’ट मचाई जाती है. उनके घरों में आ’ग लगा दी जाती है. उन्हें घरों में घुस कर पी’टा जाता है. लेकिन स्वरा इसका जिक्र नहीं करती कि अगर कोई HINDIU लड़का किसी मुस्लिम लड़की से मोहब्बत कर लेता है तो उसे बीच सड़क पर का’ट डाला जाता है. स्वरा भला उसका जिक्र क्यों करेंगी. स्वरा उन्ही बातों का जिक्र करती है जिससे वो प्रोपगैंडा फैला सके. वो उन्ही बातों को लेकर हल्ला मचाती है जिससे उनका एजेंडा चल सके.