नागरिकता बिल पास होने से स्वरा भास्कर को लगा सदमा, भारत को बताया हिन्दू पाकिस्तान

3015

लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास हो गया. इस बिल के पास होने से देश के सेक्युलर और लिबरल गैंग में खलबली मच गई. कुछ लोग तो सदमे में पहुँच गए और उलूल जुलूल बोलने लगे. उन्ही में से एक है सेक्युलर और लिबरल शिरोमणि अभिनेत्री स्वरा भास्कर.

स्वरा भास्कर हर मुद्दे पर अपना ज्ञान बघारने के लिए जानी जाती है, चाहे वो मुद्दा उन्हें समझ आये या न आये. नागरिकता संशोधन बिल में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले मुस्लिमों को शामिल नहीं किया गया तो स्वरा जी के दिल को ठेस लग गई.

बिल पास होने के बाद स्वरा ने ट्वीट कर इस बिल के प्रावधानों और मोदी सरकार दोनों की आलोचना की साथ ही देश को हिन्दू पाकिस्तान भी बता दिया. स्वरा ने ट्वीट कर लिखा, “(भारत में…) धर्म नागरिकता का आधार नहीं है. धर्म भेदभाव का आधार नहीं हो सकता. राज्य धर्म के आधार पर फैसला नहीं ले सकता. नागरिकता संशोधन बिल ने मुसलमानों को स्पष्ट रूप से बाहर रखा है.. ”-NRC/CAB प्रोजेक्ट में जिन्ना का पुनर्जन्म हुआ है. हिन्दू पाकिस्तान को मेरा हैलो!”

अब स्वरा जी को कौन समझाए? उन्हें तो ये तक नहीं पता कि नागरिकता संशोधन क़ानून पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से अपनी जान बचा कर भारत आने वाले अल्पसंख्यकों के लिए है, जिन्हें प्रताड़ना झेलनी पड़ी है. अब स्वरा जी को ये कौन समझाए कि इस्लामिक राष्ट्र में मुस्लिम अल्पसंख्यक नहीं हो सकते बल्कि वहां तो हिन्दू, बौद्ध, जैन, सिख, पारसी और ईसाई ही अल्पसंख्यक होंगे ना. लेकिन स्वरा जी को ये समझ नहीं आएगा क्योंकि इससे उनको अपना एजेंडा चलाने में दिक्कत होती है.