जमातियों को बचाने के लिए स्वरा भास्कर ने मंदिरों पर उठाये सवाल, लेकिन लोगों ने उड़ा दी धज्जियाँ

26310

इन दिनों तबलीगी जमात की वजह से देश और सोशल मीडिया दोनों जगह कोहराम मचा हुआ है. तबलीगी जमात की वजह से देश के कई हिस्सों में कोरोना के केस बहुत ही तेजी से बढ़ गए. वहीँ उनके खिलाफ कुछ कहने पर सोशल मीडिया पर लिबरल गैंग टूट पड़ता है. अब तो स्वरा भास्कर भी जमातियों के बचाव में कूद पड़ी है. वही स्वरा भास्कर जिन्होंने मुसलमानों को CAA के खिलाफ भड़का भड़का कर सड़कों पर उतार दिया. वही स्वरा भास्कर जिनका फ़िल्मी कैरियर डूब गया है तो वो राजनीति में आने अवसर तलाश रही है. वही स्वरा भास्कर जो झूठ बोल बोल कर मुसलमानों को सरकार के खिलाफ भड़काती रहती है.

तो हुआ ये कि जब पहलवान बबीता फोगाट ने तबलीगी जमात पर सवाल उठाये तो जमातियों के बचाव में स्वरा भास्कर उतर आई और कुछ मंदिरों के काल्पनिक आंकड़े ट्वीट करते हुए कहा ‘बबीता जी यह statistics भी देखें! क्या इन लाखों भक्तगण के corona test हुए हैं? कृपया इसपर भी टिप्पणी दें.’

ये काल्पनिक आंकड़े स्वरा भास्कर कहाँ से ले कर आई उन्होंने ये नहीं बताया. लेकिन भक्तों और मंदिरों पर सवाल उठाने वाली स्वरा ये बताना भूल गई कि डॉक्टरों और पुलिस पर पथराव और थूकने का काम सिर्फ जमाती ही क्यों कर रहे हैं? मंदिर वाले भक्त तो ओस नहीं कर रहे. ना ही मंदिर में कोरोना प्रभावित्त देशों कजाकिस्तान, इंडोनेशिया, मलेशिया जैसे देशों से लोगों को बुलागा गया और न ही मंदिरों में उन्हें छुपाया गया.

स्वरा इन बातों का जिक्र कर भी कैसे सकती थी? अगर स्वरा ये बातें करती तो उनका एजेंडा और उनके प्रिये जमाती एक्सपोज न हो जाते. जमातियों के बचाव में स्वरा को उतरना भारी पड़ गया. क्योंकि पत्थाबाजों वाली घटना पर तो बहुत ही चालाकी से मौन धारण कर लेती है लेकिन जहाँ उन्हें अपना एजेंडा चलाना होता है वहां वो कूद पड़ती है. इसलिए ट्विटर पर स्वरा भास्कर को जमकर ट्रोल किया जा रहा है. ट्विटर पर स्वरा लगातार ट्रेंड कर रही है.