लॉकडाउन के बीच आईपीएल प्रेमियों को लगा बड़ा झटका, BCCI आईपीएल को लेकर कर सकता हैं कोई बड़ा ऐलान

806

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संबोधन में कोरो’ना वायरस के कारण जारी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया. जिसके बाद देश में लोगों को फिर से इस लॉकडाउन का पालन करना पड़ेगा और इस बार इस लॉकडाउन को बढाने के बाद इसका पालन भी कड़ाई से करवाया जायेगा. इस बार कोरो’ना महामारी की वजह से दुनिया का सबसे बड़ा और अमीर टी-20 लीग इस बार संशय बना हुआ हैं. पहले ये उम्मीद थी कि अगर कोरोना वायरस वक़्त रहते थक हो गया देश के अंदर तो इसको आगे बढ़ा दिया जायेगा पर अब ऐसा हो पाना मुश्किल लग रहा हैं.

कोरो’ना वायरस के बाद अब दुनिया की सबसे अमीर टी-20 क्रिकेट लीग आईपीएल पर किसी भी समय फैसला लिया जा सकता है. BCCI ने IPL को 15 अप्रैल तक स्थगित किया था, इस उम्मीद में कि अगर हालात सुधरते हैं तो कोई उपयुक्त विंडो देखकर टूर्नामेंट को आयोजित किया जा सके, लेकिन लॉकडाउन के 3 मई तक बढ़ने से सभी संभावनाएं खत्म हो गईं है.

BCCI आज आईपीएल जैसे दुनिया के सबसे बड़े टूर्नामेंट पर फैसला ले सकता हैं. कोरो’ना वायरस को देखते हुए टूर्नामेंट को रद्द भी किया जा सकता है. कोरो’ना की वजह से विंबलडन और ओलंपिक खेलों पर पहले ही ग्रहण लग चुका है. ऐसे में आईपीएल का आयोजन कैसे हो सकता है. यह बड़ा सवाल है. कोरो’ना वायरस के कारण भारत में 10,000 से ज्यादा लोग कोरो’ना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. जबकि इनमें से 339 लोगों की मौ’त हो चुकी है. इससे पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने IPL को लेकर बड़ा बयान दिया था. सौरव गांगुली ने कहा था कि मौजूदा हालात में इस पर सोचा भी नहीं जा सकता है.

BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, दुनिया भर में जब जीवन में ठहराव आया हुआ हो, तो खेल के लिए क्या भविष्य होगा. मई में भी आईपीएल का आयोजन शायद नहीं होगा. आईपीएल नहीं होने से बीसीसीआई और सभी फ्रेंचाइजी टीमों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा. BCCI के सूत्रों के मुताबिक आईपीएल को रद्द करने पर 3000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा.

आईपीएल न होने से नुकसान तो होगा लेकिन आज देश जिस बड़ी महामारी से झुज रहा हैं. पहले उसको देखना है क्योकि इस नुकसान की भरपाई तो बाद में की जा सकती हैं लेकिन अगर कोरो’ना वायरस से जिन लोगों की मौ’त हो जाती है उन लोगों की ज़िन्दगी कैसे वापस मिलेगी. इसी वजह से आज देश पूरी तरह से ठहर सा गया हैं. आज देश को इसलिए बंद किया गया है ताकि कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ी जा सके.