तेजस्वी यादव को सुशील मोदी ने दी नसीहत, कहा: जिनके खुद के घर कांच के…

जिनके खुद के घर शीशे के हो तो उन्हें दूसरों के घरों में पत्थर नहीं फेंकने चाहिए. यह कहावत तो अधिकतर सबने ही सुनी है लेकिन इस कहावत को भाजपा के राज्यसभा सांसद ने एक नसीहत के तौर पर बताया है. दरअसल, बिहार विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान बिहार के सीएम नीतीश सरकार के मंत्री पर तेजस्वी यादव के बयान के बाद से बवाल मचा हुआ है. तेजस्वी यादव के खिलाफ सारे नेता हो गए हैं. इस पर ही भाजपा के सांसद ने उन्हें नसीहत देते हुए कहा कि, “शीशे के घर में रहकर दूसरों पर पत्थरबाजी नहीं करनी चाहिए.”

बता दे कि भाजपा सांसद सुशील मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि तेजस्वी यादव को अपने पिता लालू प्रसाद यादव से पूछना चाहिए कि उन्होंने कैसे-कैसे मंत्री बनवाए थे. राजद बताएं कि पिछली विधानसभा में पहली बार विधायक बनने वाले आठवीं और बारहवीं पास लोगों को तीन-तीन विभाग व कैबिनेट मंत्री कैसे बनवाया गया था.

भाजपा के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने कहा कि वे बताएं कि 1997 में उनकी पार्टी ने कई योग्य लोगों के रहते हुए एक ऐसी घरेलू महिला को मुख्यमंत्री क्यों बनवाया जो अधिकारियों की हिंदी अंग्रेजी में लिखी फाइल को नहीं पढ़ पाती थी और ना ही समझ पाती थी.

Related Articles