काई पो चे फिल्म में काम कर चुके अमित साध ने बताया कि ये थी सुशांत की फेवरेट लाइन, काई बार बोलते थे इस लाइन को

50

सुशांत सिंह की मौ’त 14 जून को हुए थी. करीब डेढ़ महीने बीत गए हैं. लेकिन अभी भी सुशांत की आ’त्मह’त्या को लेकर अभी तक कुछ भी पता नहीं चल है. लेकिन सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया के खि’लाफ बिहार में ए’फआईआ’र द’र्ज करवाई थी. उसके बाद से सुशांत से जुड़े कई लोगों ने अपनी बात को बेबाकी से रखा है. इसी कड़ी में काई पो चे फिल्म में सुशांत के साथ कम कर चुके अमित साध ने भी कुछ बाते बताई है.

सुशांत सिंह राजपूत की डेब्यू फिल्म काई पो चे में साथ काम कर चुके एक्टर अमित साध ने हाल ही में दि’वंग’त एक्टर को लेकर बात की है. अमित ने सुशांत की फेवरेट लाइन के बारे में बात की. अमित ने कहा कि ‘जब आप सुशांत का नाम लेते हैं तो मेरे रोंग’टे खड़े हो जाते हैं और जब मेरे रोंग’टे खड़े होते हैं तो मुझे सुशांत की याद आती है क्योंकि ये उसकी पसंदीदा लाइन थी. वो इसे दिन में चार-पांच बार बोलता था. उसे कुछ भी पसंद आता था मसलन उसका शॉट अच्छा होता था या उसे कोई स्क्रिप्ट पसंद आती थी तो वो इस लाइन को बोलता था कि यार क्या शानदार है ये चीज, मेरे रोंग’टे खड़े हो रहे हैं. अब जब भी मेरा साथ ऐसा होता है, तो मुझे हमेशा उसकी याद ही आती है.’

इससे पहले भी सुशांत की मौ’त को लेकर अमित साध ने भी एक इमोशनल पोस्ट शेयर करते हुए लिखा था कि मुझे माफ़ करना की मैं तुम्हे बचाने नहीं आ सका. मुझे पूरी ज़िन्दगी इस बात का अफ़सोस रहेगा कि मैं तुम्हारी मदद नहीं कर पाया और न ही तुम्हरे तक पहुँच सका.