सुशांत सिंह राजपूत के आ’त्मह’त्या की पुलिस जांच पर संजय राउत ने उठाये सवाल, पूछा ‘इतनी पूछताछ क्यों की जा रही है?’

592

सुशांत सिंह राजपूत की आ’त्मह’त्या के बाद पुलिस जांच जारी है लेकिन अब इस पुलिस जांच को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. शिवसेना नेता संजय राउत ने पुलिस जांच और पूछताछ पर सवाल उठाये. शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखे एक लेख में संजय राउत ने सवाल उठाये कि सुशांत की मौ’त के इतने दिनों बाद भी उसको लेकर चर्चा क्यों हो रही है? साथ ही उन्होंने ये भी सवाल उठाये कि पुलिस इस केस के सिलसिले में लोगों ने इतनी इतनी देर तक पूछताछ क्यों कर रही है?

संजय राउत ने मीडिया पर भी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने लिखा, सुशांत की मौ’त के बाद देश में कई घटनाएं हुई लेकिन मीडिया में अब भी सुशांत की ही चर्चा है. मीडिया ने सुशांत की मौ’त को उत्सव बना दिया है. संजय राउत ने कहा, ‘सुशांत की मौ’त के बाद इस देश में और भी बहुत कुछ हो गया है लेकिन ऐसा क्यों है कि सबका ध्यान सुशांत पर ही है. हिंदी सिने कलाकार और सिने सृष्टि से समाज का जीवन कितना प्रभावित है ये सुशांत के खु’दकु’शी मामले में सामने आ गई है.

उन्होंने पुलिस जांच पर सवाल उठाते हुए लिखा कि ‘सुशांत प्रकरण में खोजा जाए, ऐसा क्या बचा है? पुलिस निश्चित तौर पर किसकी जांच कर रही है? बीते कुछ समय से अभिनेता अज्ञातवास में था. उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी. नाकामी की हताशा में उसने बांद्रा स्थित अपने घर में फां’सी लगाकर अपनी जा’न ले ली. जो मा’फिया और बॉलीवुड में नेपोटिज्म से बाहर की बात है.’

उन्होंने लिखा कि सुशांत ने कोई सु’साइड नोट नहीं छोड़ा. इसके बावजूद 11-11 घंटे तक पूछताछ की जा रही है, क्यों? पुलिस ने यशराज फिल्म के साथ राजपूत का कॉन्ट्रैक्ट मांगा है. इससे उन्हें क्या सबूत मिलेगा? कई एक्ट्रेस जिनका सुशांत से लिंक था उन्हें पुलिस ने बुलाया, इसकी बिल्कुल जरुरत नहीं थी. उन्होंने आगे लिखा कि मुझे बताया गया कि तब वो मानसिक रूप से ठीक नहीं था. वह अवसाद से पीड़ित था. वो फिल्म सेट पर अजीब व्यवहार कर रहा था, जिसकी वजह से हर कोई परेशान था. यही वजह थी कि कई बड़े प्रोडक्शन हाउस ने उसके साथ कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया. जो लोग जानते हैं उनका कहना है सुशांत ने खुद अपने करियर का नुकसान किया. इसके दो महीने बाद ही उसने आ’त्मह’त्या कर ली.