बड़ी खबर : सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता एक्ट पर रोक लगाने से किया इनकार

1636

सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन एक्ट पर रोक लगाने से साफ़ इनकार कर दिया. ये उनलोगों के लिए बहुत बड़ा झटका है जो संसद में हारने के बाद कोर्ट की तरफ उम्मीद भरी नज़रों से देख रहे थे. लेकिन कोर्ट ने सरकार से उन 59 याचिकाओं पर जवाब माँगा है जिओ इस एक्ट के खिलाफ कोर्ट में दाखिल की गई है. इस मामले पर अगली सुनवाई अब 22 जनवरी को होगी.

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में CAA पर हुई सुनवाई के दौरान एक्ट पर रोक लगाने की मांग कर रहे वकील ने इस दौरान कहा कि असम जल रहा है, अभी इस एक्ट पर स्टे की जरूरत है. जिस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा कि एक्ट पर स्टे लगाने के लिए जो दलील दी जा रही है, वह एक्ट को चैलेंज करने के समान है. ऐसे में एक्ट पर किसी तरह का स्टे ना लगाया जाए. दलीलों को सुनने के बाद चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया एस. ए. बोबड़े ने याचिका पे रोक लगाने की मांग को ठुकरा दिया.

नागरिकता एक्ट के खिलाफ कई याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट के बेच के सामने लंबित है. याचिका दाखिल करने वालों में कांग्रेस नेता जयराम रमेश, त्रिपुरा के शाही परिवार के सदस्य प्रद्योत किशोर देब बर्मन, असदुद्दीन ओवैसी, महुआ मोइत्रा, पीस पार्टी, एम एल शर्मा समेत कई याचिकाकर्ता शामिल हैं. इन लोगों ने एक्ट को असंवैधानिक बताते हुए इसके खिलाफ याचिका दाखिल की है.

उधर मंगलवार को इस एक्ट के विरोध में दिल्ली में फिर हं’गामा हुआ. सीलमपुर इलाके में हिं’सा भड़क उठी. हज़ारों की भीड़ ने पत्थ’रबाजी की जिसे रोकने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले’ दागने पड़े.