SC में सरकार ने हलफनामा दायर कर कहा बनाने होंगे मेक-शिफ्ट अस्पताल

108

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कई कड़े कदम उठाये हैं. केंद्र सरकार ने देश को बचाने के लिए लॉक डाउन किया. जिसे कहीं न कही कोरोना से लड़ाई में मददगार साबित हुआ. अब सरकार ने देश में अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने के लिए अनलॉक 1 कर दिया हैं. जिसके कही न कही कोरोना वायरस के केस बढ़ते हुए नजर आ रहें हैं.

इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में कोरोना वायरस सं’कट को लेकर एक हलफनामा दयार किया गया हैं. जिसमे केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में माना है कि ‘देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. ऐसे में देश में बड़ी संख्या में मेक-शिफ्ट अस्पतालों की स्थापना करनी होगी.’

केंद्र सरकार की ओर से दाखिल हलफनामे में आगे कहा गया है कि ‘अब देश में तेजी से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है. ऐसे में निकट भविष्य में मौजूदा अस्पतालों के अलावा कोरोना मरीजों के लिए अस्थाई मेक-शिफ्ट अस्पतालों का निर्माण करना होगा. ताकि उनकी देखभाल की जा सके.’ केंद्र ये भी कहा की इस संकट की घडी में जो भी स्वस्थ्यकर्मी कोरोना मरीजो का इलाज़ कर रहें है उनकी भी देखभाल करने का जिम्मा हमारा हैं यानी की केंद्र सरकार का हैं.

आपको बता दें कि जबसे देश के अंदर अनलॉक 1 हुआ है तबसे देश में कोरोना के मरीजों की संख्या तेजी से बढती हुए नजर आ रही हैं. अगर बात करें पिछले तीन-चार दिनों की तो रोज 8 हज़ार के आस पास कोरोना से संक्रमित होने के मामले सामने आ रहें हैं.  गुरुवार सुबह तक देश में कोरोना वायरस के कुल केस की संख्या 2.17 लाख तक पहुंच गई, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 6 हजार पार कर गया हैं.

कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया है कि उसकी आगे की रणनीति क्या है कोरोना मरीजो से लड़ने के लिए.