पीएम मोदी के ट्रस्ट ऐलान के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड ने भी की बड़ी घोषणा, कहा 5 एकड़ जमीन पर बनवायेंगे ये

2013

संसद से पीएम मोदी ने राम मंदिर को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है. जी हाँ राम मंदिर पर फैसला आने के बाद से मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट बनना रह गया था. राम मंदिर पर फैसला आने के बाद से ट्रस्ट बनने में देरी को लेकर सवाल उठने लगे, जिसके जवाब में आज 5 फरवरी को पीएम मोदी ने संसद से बड़ा ऐलान कर दिया है. उन्होंने अयोध्या में प्रभु श्री राम मंदिर बनवाने के लिए ट्रस्ट की घोषणा कर दी है.

जानकारी के लिए बता दें पीएम मोदी ने संसद में अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट के 15 सदस्यी टीम के बारे में बताते हुए ऐलान किया. उन्होंने बताया कि इस कमेटी में एक दलित सदस्य को भी शामिल किया गया है. उच्च न्यायलय ने 9 नवंबर 2019 को अयोध्या में विवादित जमीन पर अपना फैसला सुनाया था और रामलला को मालिकाना हक़ दिया था. वहीं दूसरी ओर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने भी अयोध्या में ट्रस्ट की घोषणा कर दी है.

पीएम मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए बनाये गये ट्रस्ट का नाम ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ रखा है तो वहीं सुन्नी वक्फ बोर्ड ने अपने ट्रस्ट का नाम ‘इंडो इस्लामिक कल्चर ट्रस्ट’ रखा है. दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी सरकार ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन देने का ऐलान किया था. अब सुन्नी बोर्ड ने ऐलान किया है कि वह इस जमीन पर स्कूल, अस्पताल और कॉलेज का निर्माण करेंगे.

गौरतलब है कि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ट्रस्ट अस्पतालों,स्कूलों, पुस्ताकालाओं में सार्वजनिक उपयोगिता के बुनियादी ढांचे और संस्थानों के निर्माण को सुनिश्चित करेगा, जोकि इस्लामी संस्कृतिक गतिविधियों और अन्य सामाजिक गतिविधियों को बढ़ावा देने वाली होंगी. सुन्नी बोर्ड ने कहा है कि इस ट्रस्ट के लिए बाबरी मस्जिद केस से जुड़े लोगों को सदस्य घोषित किया जायेगा. उन्होंने कहा है कि सरकार से 5 एकड़ जमीन मिलने के बाद इसमें जल्द कार्य शुरू किया जायेगा, ट्रस्ट के लिए पूरी रुपरेखा भी तैयार कर ली गयी है.