सूडान की फैक्ट्री में आग ने निगल लीं 18 भारतीयों की जिंदगियां

1899

BREAKING-अफ्रीका के आयल रिच देश सूडान की राजधानी खारतूम में एक फैक्ट्री के अंदर हुए भीष’ण हाद’से में 18 भारतीय लोगों की जान चली गयी.. ये दर्द’नाक हाद’सा एलपीजी टैंकर में हुआ.. इस हाद’से में कुल 23 लोगों की मौत हुई और जिसमें 18 भारतीय नागरिक भी शामिल हैं.. हादसे में दर्जनों की संख्या में लोगों के घायल होने की भी खबर है.. लेकिन मिले आंकड़ों में ये बताया गया है कि इस हादसे में कुल 128 लोग घायल हुए हैं.. सूडान की इस फैक्ट्री में ये हादसा मंगलवार को हुआ था लेकिन इसकी पुष्टि भारतीय दूतावास ने बुधवार को मीडिया को दी है..

भारतीय दूतावास से मिली पूरी जानकारी के मुताबिक इस फैक्ट्री में कुल 50 भारतीय काम करते हैं.. और इस बड़े हादसे में सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय कर्मचारियों को ही हुआ है.प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो वहां लगी भया’नक आग के बाद आसमान में काले धुंए का बड़ा गुबार उड़ता देखा गया.. धमा’का इतना शक्तिशाली बताया जा रहा है कि वहां आस पास इलाकों में खड़ी कारों में भी आग लग गयी.

सरकार इस घटना पर तमाम तरह से डाटा शेयर कर रही है, लेकिन घटना की शुरूआती जांच में जो पता चला है उसके अनुसार फैक्ट्री के अंदर हादसे वाली जगह पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं थे और ऐसे हादसों से बचने के लिए कोई उपकरण तय सुरक्षा मानकों के हिसाब से नहीं रखा गया था.. इसके आलावा साईट पर आग पकड़ने वाली सामग्री को सही तरीके से नहीं रखा गया था, जिसकी वजह से फ़ौरन आग फ़ैल गयी. भारतीय दूतावास ने इस हादसे के बाद गायब हुए या मृ’तक भारतीय कर्मचारियों का जो आंकड़ा दिया है उसके मुताबिक इस लिस्ट में सबसे ज्यादा संख्या बिहार, उत्तर प्रदेश ,हरियाणा,तमिलनाडू, दिल्ली और गुजरात के लोगों की है. भारत सरकार को इस हाद’से की जानकारी मिलने के बाद अब मृत’कों के श’वों को भारत वापस लाने की तैयारियां की जा रही हैं..