अभी भी पाकिस्तान में डरा रहा है एयर स्ट्राइक का डर

420

बालकोट में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ.. जवाब में पीएम मोदी ने कहा इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी.. अचानक एक दिन खबर आई कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक कर दिया है. कहा गया कि एयर स्ट्राइक में सैकड़ों आंतकी मारे गये.. पाकिस्तान की इतनी किरकिरी हुई कि अब पाकिस्तान को डर लगने लगा है. पाकिस्तान को कैसा डर है ये हम आपको आगे बताएँगे लेकिन इससे पहले हम आपको ये बताने जा रहे हैं कि भारतीय सेना ने जो एयर स्ट्राइक पाकिस्तान पर किया था उसका कोडनेम क्या था? आपको जानकारी के लिए बता दें कि एयर स्ट्राइक के ऑपरेशन को कोडनेम दिया गया- ‘ऑपरेशन बंदर’. इस ऑपरेशन के तहत वायु सेना के 12 मिराज फाइटर जेट ने बालाकोट में आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया था.

दावा किया गया कि इस ऑपरेशन में 250 से 300 आतंकी मारे गए. अब सवाल ये भी दिमाग में आता है कि इस ऑपरेशन का नाम बंदर क्यों रखा गया.. दरअसल, वायु सेना की इस स्ट्राइक को रामायण से जोड़ा गया. जिस तरह राम की सेना के सेनापति हनुमान ने चुपचाप लंका में दाखिल होकर उसे तहस-नहस कर दिया था. हनुमान के नाम पर इस ऑपरेशन का नाम बंदर रखा गया था. ठीक वैसे ही बालाकोट में आतंकी ठिकानों का हाल बनाया गया था. ऑपरेशन बंदर इतना गोपनीय रखा गया कि पाकिस्तान को उस समय तक इसकी भनक नहीं लगी.


अब आपको बताते हैं कि आखिर पाकिस्तान को अब किस बात का डर सता रहा है. दरअसल इमरान खान सरकार ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से अपना पूर्वी हवाई क्षेत्र बंद कर रखा है. जिसकी वजह से भारत आने वाली या जाने वाली उड़ाने उस रास्ते से होकर नही गुजर रही हैं इसकी वजह से उन्हें लंबा रास्ता तय करना पड़ रहा है. अब इमरान खान ने इसे खोलने के लिए शर्त रखी हैं कि यदि भारत वादा करे कि वह उसके क्षेत्र में बालाकोट जैसी एयर स्ट्राइक को नहीं दोहराएगा तो वह अपने हवाई क्षेत्र को खोलने के लिए तैयार है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान इस क्षेत्र पर तब तक प्रतिबंध लगाकर रखेगा जब तक भारत की तरफ उसे आश्वासन नही मिल जाता है कि कोई एयर स्ट्राइक अब नही की जायेगी.. पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने कहा था कि सरकार 28 जून को इस मामले की समीक्षा करेगी लेकिन उन्होंने ज्यादा जानकारी देने से मना कर दिया था…मीडिया सूत्रों के मुताबिक़ पाकिस्तान भारत के आश्वासन का इन्तजार कर रहा है. प्रतिबन्ध तबतक नही हटाया जाएगा जबतक दोनों देशों में उच्च स्तर पर इस मसले को उठाया और सुलाझाया नहीं जाता।

पिछले महीने ही पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैसल ने कहा था कि हम भारत के साथ तनाव को कम करना चाहते हैं। यदि तनाव कम होता है तो हम हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को हटा देंगे। दरअसल पाकिस्तान को अभी भी इस बात का डर है कि भारत उसपर स्ट्राइक कर सकता है. इसी डर से पाकिस्तान इन क्षेत्रों में उड़ान पर प्रतिबंध लगाया हुआ है. जिसकी वजह से उड़ाने लंबी दूरी का रास्ता तय का रही है.