अनामिका शुक्ला मामले में एसटीएफ ने की है ये बड़ी कार्रवाई, जिसके बाद…

227

उत्तरप्रदेश में अभी हाल ही में फर्जीवाड़े का एक मामला सामने आया था जिसने सभी को चौंका दिया था. मामला ये था कि अनामिका शुक्ला नाम की महिला 25 जगहों पर नौकरी करके पिछले कई महीनों से सरकार से तनख्वाह ले रही है. इस खबर के आने के बाद इस महिला टीचर की तलाश शुरू हो गयी. बताया गया है कि ये महिला टीचर पिछले 13 महीनों में करीब 1 करोड़ रूपये की सैलरी ले चुकी है. महिला को उत्तरप्रदेश के कासगंज की सोरों पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

जानकारी के लिए बता दें अनामिका शुक्ला के गिरफ्तार होने के बाद हर दिन नए नए खुलासे हो रहे हैं. सरकार ने इस केस में हाई स्तर की जांच बिठा दी थी. जिसके बाद अब इस मामले के मास्टरमाइंड को लेकर भी बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद हर कोई चौंक जायेगा. वहीँ अनामिका शुक्ला नाम की पकड़ी गयी महिला का असली नाम प्रिया जाटव था. अब एसटीऍफ़ ने बड़ी कार्रवाई की है.

एसटीएफ ने अनामिका शुक्ला घोटाले के मुख्य मास्टरमाइंड पुष्पेन्द्र उर्फ़ राज को गिरफ्तार कर लिया है. वहीँ अनामिका शुक्ला की जगह अलग अलग-अलग जगह काम कर रही महिला भी सामने आई थी. इस घोटाले के अंतर्गत एक महिला के नाम पर कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालयों में कई अध्यापिकाएं पढ़ा रही थी, जिसका खुलासा हो गया.

गौरतलब है कि एसटीएफ ने इस मामले के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करते हुए बतायाहै कि इस मामले में अन्य 2 लोगों को भी गिरफ्तार किया है. जिनकी पहचान जौनपुर के आनंद और खीरी के रामनाथ के रूप में हुई है. इतना ही नही पुलिस ने इनके पास से लाइसेंसी पिस्तौल और सात कारतूस के साथ कई दस्तावेज बरामद किये हैं.