बुरी खबर : स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने ग्राहकों को फिर दिया जोरदार झटका

1428

देश का मिडिल क्लास आदमी बचत के लिए बैंकों में डिपॉजिट का विकल्प अपनाता है. लेकिन बीते कुछ समय से बैंक विभिन्न तरह के डिपॉजिट पात्र ब्याज दर को लगातार कम कर रहे हैं. इसी कड़ी में भारत के सबसे बड़े  सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने ग्राहकों को फिर झटका दिया है. पिछले एक हफ्ते में स्टेट बैबंक द्वारा दिया गया ये दूसरा झटका है.

पिछले सप्ताह बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों को कम कर दिया है. अब बैंक ने RD यानी रेकर्रिंग डिपॉजिट पर भी ब्याज दरों में कटौती कर के अपने ग्राहकों को झटका दिया है. अब स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ग्राहकों को रेकरिंग डिपॉजिट पर पहले के मुकाबले 0.15 प्रतिशत कम ब्याज मिलेगा. पहले 1 से 10 साल तक की अवधि वाले रेकरिंग डिपॉजिट पर 6.25 प्रतिशत का ब्याज मिलता था लेकिन अब ये 6.10 प्रतिशत हो गया है. नई ब्याज दर 10 जनवरी से प्रभावी होगा. अब से ग्राहकों को रेकरिंग डिपॉजिट पर 6.10 प्रतिशत की दर से ब्याज मिला करेगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर

इससे पहले बैंक ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर भी ब्याज दरों में कटौती की थी. बैंक ने एक साल से अधिक अवधी वाली एफडी पर अब ब्याज दर 6.1 प्रतिशत कर दिया है. पहले एक साल से अधिक अवधी वाली एफडी पर बैंक 6.25 प्रतिशत के डर से ब्याज देती थी. 2 करोड़ रुपये से कम की एफडी पर 10 जनवरी से नई ब्याज दर के हिसाब से ब्याज मिलेगी. बैंक ने वरिष्ठ नागरिकों को भी झटका दिया है. वरिष्ठ नागरिकों अब 6.6 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा. पहले बैंक वरिष्ठ नागरिकों को 6.75 की दर से ब्याज देती  थी.

बैंक सात दिन से लेकर 45 दिनों तक की एफडी पर 4.50 और 46 दिन से 179 दिन तक की अवधि वाले एफडी पर 5.50 प्रतिशत की दर से ब्याज देगी. जबकि 180 दिन से लेकर 364 दिनों तक की अवधि पर 5.80 प्रतिशत की दर से ब्याज देगी