बॉलीवुड की ‘चांदनी’ की आज पहली पुण्यतिथि,जाह्नवी ने शेयर की इमोशनल फोटो

398

पिछले साल 25 फरवरी की सुबह जब आंख खुली, फोन उठाया, और फेसबुक on करते ही मूड ऑफ हो गया। पूरा फेसबुक श्रीदेवी की श्रद्धाजंलि वाली पोस्ट्स से भरा हुआ था। अचानक से यकीन नही हो रहा था। कि ये सच है या कोई अफवाह। जैसा कि आये दिन सोशल मीडिया में चलता रहता है। न्यूज़ वेरीफाई किया TV on किया खबर सही थी। आपको सुबह सुबह इतनी मनहूस खबर मिले तो मूड का सत्यानाश होना तय है। 25 संडे था लेकिन अब कुछ भी करने का मन नही था। दरअसल 24 फरवरी की देर रात ही श्रीदेवी की मौत हो गयी थी खबर हम तक आने में सुबह हो गईं। किसे पता था कि ये अनर्थ होने वाला है।

दिवगंत actress श्रीदेवी भले ही इस दुनिया में अब नहीं है लेकिन आज भी वो अपने फैंस के दिलों में चांदनी बनकर जगमगाती हैं। आज उनके निधन को एक साल हो जाएगा। पिछले साल दुबई में 24 फरवरी को एक होटल के बाथटब में डूबने से उनकी मौत हो गई थी।श्रीदेवी अपनी मेहनत, अभिनय और काम को पूरी लगन से करने के लिए जानी जाती थी। उनके डेडिकेशन के कई किस्से आज भी बॉलीवुड के गलियारों में मिशाल के तौर पर सुनाए जाते है. चार दशकों तक सिल्वर स्क्रीन पर चांदनी बिखेरनी वाली श्रीदेवी ने,आखिरी बार मॉम फिल्म में अहम रोल निभाया था. इससे पहले इंग्लिश-विंग्लिश मूवी में कमबैक कर उन्होंने पर्दे पर जबरदस्त वापसी की थी. श्रीदेवी के खाते में खुदा गवाह, मिस्टर इंडिया और चांदनी जैसी बड़ी सुपरहिट फिल्मों की लंबी लिस्ट हैं.”

उनकी पहली बरसी पर उनके परिवार से लेकर उनके फैंस तक, उन्हें अलग अलग तरीको से याद लर रहे है। खबर ये भी है कि श्रीदेवी की पहली बरसी पर उनके परिवार वालों ने उनकी आत्मा की शान्ति के लिए चेन्नई में पूजा रखी थी। जहां बोनी कपूर, अनिल कपूर, जाहन्वी और खुशी कपूर चेन्नई पहुंचे थे। और हवन पूजन कराया था। उनकी पहली डेथ एनिवर्सरी पर उनके पति बोनी कपूर उनकी ट्रेडमार्क ब्लू साड़ी को नीलाम करने जा रहे हैं। नीलामी से मिलने वाली रकम को बोनी चैरिटी में दान करेंगे। श्रीदेवी की पहली महिला सुपरस्टार थी। जिनके नाम भर से ही सिनेमाघरों में दर्शकों की लाइन जग जाती थी।

हाल ही में एक इंटरव्यू में अनिल कपूर नें श्रीदेवी को याद करते हुए कहा कि ‘वो मेरे भाई की पत्नी थीं साथ ही मेरी पत्नी की अच्छी दोस्त भी थीं। दोनों की आपस में अच्छी बॉन्डिंग थी। जब भी हम साथ होते थे ढ़ेर सारी मस्ती करते थे। श्रीदेवी जैसी शख्सियत को भुला पाना बेहद मुश्किल है। उनके काम करने का अंदाज काफी प्रभावशाली था। आज भी उनकी फिल्में देखी जाती हैं और उनकी तस्वीरें छपती हैं। हम उन्हें हमेशा याद किया करते हैं।’ 

आज का दिन बोनी कपूर के लिए भी भारी होगा। आज उन्हें अपनी जीवन संगिनि याद आ रही होगी। श्रीदेवी के निधन के बाद से ही बोनी कपूर एक पिता और मां दोनों का कर्तव्य निभा रहे हैं। श्रीदेवी के जानें के बाद बोनी ने एक खत लिखा था और उस खत से ही उनके दर्द का अंदाजा लगाया जा सकता है। श्री देवी के ट्विटर पेज पर एक लंबा खत शेयर करते हुए बोनी कपूर ने लिखा है कि “एक दोस्त, पत्नी और दो जवान बेटियों की मां को खोने का दर्द शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। मैं अपने दोस्त, परिवार, सहयोगी, शुभचिंतक और अनगिनत फैन्स का आभार जताना चाहूंगा, जो इस दुख की घड़ी मे हमारे साथ खड़े रहे। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे अर्जुन और अंशुला का सपोर्ट और प्यार मिला वे स्तंभ की तरह ताकत बनकर मेरे, जाह्नवी और खुशी के साथ खड़े रहे।’

सब अपने अपने तरीके से आज श्रीदेवी को याद कर रहे हैं। the चौपाल की टीम भी श्रीदेवी को भावभीनी श्रद्धांजलि देती है। और चलते चलते उनकी याद में कैफ़ी आज़मी का एक शेर अर्ज करना चाहूंगी..

“रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई,
तुम जैसे गए ऐसे भी जाता नहीं कोई…

इक बार तो खुद मौत भी घबरा गयी होगी,
यूँ मौत को सीने से लगाता नहीं कोई”