एयर स्ट्राइक में इस्तेमाल हुए इस ख़ास बम की खूबियाँ जानकर हैरान हो जायेंगे आप

298

14 फरवरी 2019 आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने सीआरपीएफ के काफिले पर पुलवामा में एक आत्मघाती हमला किया. इस हमले में सीआरपीएफ़ के 40 जवान शहीद हुए. देश की सुरक्षा और सम्मान पर ये एक बड़ा हमला था, और सवाल था देश की अस्मिता का.

ये ऐसा वक़्त था जब पूरे देश का माहौल बदला हुआ था. लोग दुःख और गुस्से के मिली-जुली भावनाओं में डूबे हुए थे. देश तिरंगे में लिपटे हुए शहीदों को देख आंसू भी बहा रहा था और उनको इस हाल में पहुंचाने वालों से बदला लेने की मांग भी कर रहा था.

इस हमले को अभी 12 दिन ही बीते थे कि इंडियन एयरफोर्स ने 26 फरवरी को देश के सिपाहियों की शहादत का बदला ले लिया. इंडियन एयरफोर्स के लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमला कर दिया और जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को नेस्तनाबूत कर दिया.

इंडियन एयरफोर्स के फाइटर प्लेन पाकिस्तान के खैबर-पख्तून्ख्वा में बालाकोट तक घुसकर, बम गिराकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को धूल में मिला आए. इंडियन एयरफोर्स ने एक सफल एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था. और इस एयर स्ट्राइक को सफल बनाने में इंडियन एयरफोर्स का पूरा साथ दिया था स्पाइस-2000 ने.

स्पाइस-2000 नाम है उन बमों का जो इंडियन एयरफ़ोर्स के 12 विमानों ने इस एयर स्ट्राइक के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर गिराए थे. ये बम इजराइल से खरीदे गए थे, और इसमें से हर एक बम का वज़न करीब 60 से 70 किलो तक था. इंडियन एयरफोर्स के लिए अक्सर इजराइल से हथियार खरीदे जाते रहे हैं.

अभी कुछ देर पहले ही हमने आपको स्पाइस- 2000 का वज़न बताया था, जिसको सुनकर आपको आगा होगा कि आखिर एक बम का वज़न बताने का क्या मतलब? लेकिन आप ऐसा सोचें  उससे पहले ही हम आपको बता दें कि स्पाइस-2000 का वज़न ही उसकी सबसे बड़ी खूबियों में से एक है.

इस बम की बनावट और वज़न दोनों मिलकर ही बड़े-बड़े कारनामों को अंजाम देते हैं. इस बम को जब फाइटर प्लेन से इसके निशाने पर गिराया जाता है तो अपने वज़न की वज़ह से ये कंक्रीट की छत को तोड़कर घरों और बंकरों अन्दर पहुँच जाता है. अन्दर जाने के बाद इसमें विस्फोट होता है और दुश्मनों का नामो-निशान मिट जाता है.

पिछले लम्बे वक़्त से देश की सरकार, देश की सेना को मज़बूत और ताकतवर बनाने में जुटी हुई है. सेना को नये हथियार और आधुनिक उपकरणों से लैस करने में देश की सरकार कोई कसार नहीं छोड़ रही है. इसी क्रम में अब खबर आ रही है कि भारतीय वायुसेना इजराइल से स्पाइस-2000 का अपडेटेड वर्जन खरीदने पर विचार कर रही है.

कुछ रिपोर्ट्स बताती हैं कि अपडेटेड खूबियों वाला ये स्पाइस-2000 मज़बूत इमारतों और बंकरों के परखच्चे उड़ाने में सक्षम होगा. यही वज़ह है कि स्पाइस-2000 के इस वर्जन को इजराइल की तरफ से ‘बंकर बस्टर’ नाम दिया गया है. ये बम जल्दी ही भारतीय वायुसेना में शामिल हो सकता है. और अगर ऐसा हो गया तो इंडियन एयरफोर्स में सुदर्शन और स्पाइस-2000 जैसा ही एक और धमाकेदार साथी जुड़ जाएगा, और इंडियन एयरफोर्स की ताकत को और बढ़ाएगा.

देखिये हमारा वीडियो: