देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया इस समय एक भयंकर परिस्थिति से गुजर रही है. जिसके चलते हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है. कोरोना वायरस ने हर तरफ लोगों में भय बना दिया है. हर दिन पूरी दुनिया में लोग इससे संक्रमित हो रहे हैं और मर रहे हैं. पूरी दुनिया में कोई देश इस गंभीर बीमारी का दवा नहीं बना पाई है. हर देश अपने नागरिकों को लेकर अलग-अलग तरह के कदम उठा रहा है ताकि बाक़ी लोगों में फैलने से इसे रोका जा सके. भारत में मोदी सरकार ने इससे लड़ने के लिए तमाम चीजों को बंद कर दिया है.

जानकारी के लिए बता दे मोदी सरकार कोरोना से लड़ने के लिए लगातार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है जिससे कैसे भी करके इस वायरस को रोका जा सके. देश के अलग-अलग हिस्सों में ट्रेनें, होटल समेत धार्मिक स्थलों को भी बंद कर दिया गया है ताकि एक साथ ज्यादा लोग एक जगह एकत्रित न हो सकें. वहीं सरकार लगातार लोगों से अपील कर रही है कि वह अपने घरों में ही रहें कहीं बाहर न निकलें और सामाजिक कार्यों से दूर रहें इसके बावजूद भी समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने अजीबोगरीब बयान दे दिया है.

सरकार की तरफ से लोगों को सुरक्षित रहने के निर्देश दिए जा रहे हैं और भ्रम व अफवाह फैलाने वाले लोगों को सतर्क किया जा रहा है कि वह कोरोना को लेकर किसी भी तरह की अफवाह फैलाते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है. इसी बीच समाजवादी पार्टी के नेता रमाकांत यादव ने कहा है कि कोरोना एक छलावा है. NRC,CAA और महंगाई जैसे मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए उछाला जा रहा है.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से देश में 4 तो दुनियाभर में हजारों लोग मर चुके हैं. इसके बावजूद भी समाजवादी पार्टी के नेता का ऐसा बयान आना बेहद शर्मनाक है. यूपी के आजमगढ़ से सांसद रहे रमाकांत यादव ने कहा कि कोरोना दुनिया में हो सकता है लेकिन भारत में नही हो सकता. उन्होंने भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों को अपने गले लगाने तक की बात कह डाली. उनके इस बयान के बाद डीआईजी सुभाष चंद्र दुबे ने इसे भ्रम फैलाने वाला बयान बताया है. उन्होंने कहा है कि उनके इस बयान से जनता को परेशानी हो रही है. जिसके चलते उनपर आजमगढ़ के सिधारी थाने में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे दिया है.