CAA के बाद पाकिस्तान से भारत आए कई सारे हिंदू परिवार और वहां के बारे में खोल दिए ये बड़े राज

1673

भारत सरकार ने अभी हाल ही में संसद में नागरिकता संशोधन कानून बिल पास किया था. सरकार के इस बिल के आने के बाद देशभर में अलग-अलग जगह विरोध-प्रदर्शन हुए लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ़ कर दिया है कि चाहें जो भी हो इस बिल को वापस नहीं लिया जायेगा. हालाँकि कई जगह ये प्रदर्शन अभी भी चल रहे हैं लेकिन इस बिल के आ जाने से कई लोग बहुत खुश भी हैं.

जानकारी के लिए बता दें केंद्र सरकार के इस बिल के बाद बड़े पैमाने पर हिंदू और सिख समुदाय के लोग भारत में आना शुरू हो गये हैं. पिछले एक हफ़्ते में देखा जाए तो 1000 से ज्यादा लोग पाकिस्तान से भारत आ पहुंचे हैं. सोमवार को पंजाब के अमृतसर में स्थित वाघा अटारी बॉर्डर को पार करके 50 हिंदू परिवार भारत आए, जिन्होंने 25 दिन का टूरिस्ट वीजा ले रखा है.

नियमों के अनुसार 25 दिन पूरे होने पर इन लोगों को वापस पाकिस्तान लौटना होगा लेकिन ये लोग अब वापस पाकिस्तान जाना नहीं चाहते हैं. इसी जत्थे में आए लोगों ने पाक की पोल खोलते हुए कहा कि हम पकिस्तान में नर्क जैसी जिंदगी भोग रहे हैं, हम मर जायेंगे लेकिन दोबारा उस नर्क में नहीं जायेंगे. अभी ये कहना जल्दबाजी हो सकता है कि ये लोग भारत में बसने आए हैं लेकिन आशंका ये जरुर है कि ये अपने वीजा की मियाद के आगे भी भारत में रह सकें और नागरिकता के लिए अप्लाई कर सकें.

गौरतलब है कि वहीं दूसरी तरफ अकाली दल के नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक ट्वीट करके बताया कि पाकिस्तान में धर्म उत्पीड़न की वजह से 4 हिंदू परिवार परिवार भारत आए हैं, उन्होंने कहा है कि वह मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर उन्हें भारतीय नागरिकता प्रदान करने का अनुरोध करेंगे.