ये हैं वो वैक्सीन जो दुनिया को बचा सकती हैं इस खतरनाक वायरस !

देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. देशभर में लॉकडाउन को तीसरी बार बढ़ाकर 17 मई तक के लिए लागू कर दिया गया है. सरकार के पास इस समय लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचा है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लोगों को ये बता चुके हैं कि अगर समय के चलते लॉकडाउन का फैसला नही लिया गया होता तो आज स्थिति और भयावह हो सकती थी.

जानकारी के लिए बता दें भारत में इस समय कोरोना के मरीजों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ बढ़ रही है लॉकडाउन के तीसरे फेज के बाद हर दिन करीब 3 हजार से ज्यादा मरीज बढ़े हैं. कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए अभी तक कहीं से भी राहतभरी खबर नहीं आ रही थी. इस बीमारी की अभी तक कोई भी दवा नही बन पायी थी लेकिन इसी बीच एक बड़ी खबर भारत के लिए आ रही है. लोग अभी तक इस बात से परेशान हैं कि आखिर कब वो वैक्सीन आएगी जो पूरी दुनिया को इस संक्रमण से बचाएगी. photo source- रायटर्स

आपको भी जानकर हैरानी होगी कि इस समय पूरी दुनियाभर में कोविड-19 की वैक्सीन के लिए करीब 90 वैज्ञानिकों की टीम काम कर रही है ताकि जल्द से जल्द इस महामारी से निपटा जा सके. इन 90 टीमों में से 6 टीम ऐसी हैं जो इस समय अपने लक्ष्य के करीब पहुंच गयी हैं. जिनका ह्यूमन ट्रायल बाकी है और कई जगह चल रहा है. तो चलिए बताते हैं आपको उन 6 वैक्सीन के बारे में जो कोरोना को नष्ट करने का काम कर सकती हैं. photo source- AFP

गौरतलब है कि चीन में इस समय तीन टीकों का ह्यूमन ट्रायल चल रहा है. जिसमें एक AD5-nCoV वैक्सीन है, दूसरी LV-SMENP-DC वैक्सीन और तीसरी वैक्सीन वुहान में तैयार की जा रही है. चीन में बन रही इन वैक्सीन से इंसान की इम्युनिटी क्षमता भी बढ़ेगी और साथ ही इसे इंसान के शरीर में डालकर कोशिका के उस प्रोटीन को सक्रीय कर देगा जो वायरस से लड़ने का काम करेगा. वहीँ एक वैक्सीन का ट्रायल ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में चल रहा है. यूरोप में इसका पहला ट्रायल 23 अप्रैल को शुरू हुआ था. इसका नाम ChAdOx1 है. इस वैक्सीन में कीच जेनेटिक बदलाव किये गये हैं ताकि ये इंसानों के शरीर में जाकर उल्टा काम न शुरू कर दे. इन वैक्सीनों का अगर ह्यूमन ट्रायल सफल हो जाता है तो जल्द ही पूरी दुनिया इस वायरस से लड़ने में सक्षम हो जाएगी. वहीँ 5 वीं वैक्सीन का ट्रायल अमेरिका में चल रहा है जिसका नाम mRNA-1273 वैक्सीन वहीँ अमेरिका की ही एक और कंपनी INO 4800 वैक्सीन को बना रही है. यही वो 6 वैक्सीन हैं जिनका ट्रायल सफल हो जाये तो फिर लोगों की जान बचाई जा सकती हैं.